मुख्य विकास अधिकारी नरेन्द्र सिंह भण्डारी ने टाटा मल्लू में मिशन योजना से लाभान्वित पाॅच सौ वर्ग मी. पौलिहाउस का किया निरीक्षण

ख़बर शेयर करें

रामनगर – बीते दिनों मुख्य विकास अधिकारी श्री नरेन्द्र सिंह भण्डारी द्वारा विकास खण्ड रामनगर, कोटाबाग, के अन्तर्गत उद्यान विभाग द्वारा संचालित योजनाओं से लाभान्वित पुष्प उत्पादक, सब्जी उत्पादक, फल पौध उत्पादकों के यहां स्थलीय निरीक्षण प्रभारी उद्यान संचल केन्द्र अर्जुन परवार द्वारा किया गया। पुष्प उत्पादक राकेश नन्दन सिघल,टाटा मल्लू में मिशन योजना से लाभान्वित पाॅच सौ वर्ग मी. पौलिहाउस का निरीक्षण किया। कृषक द्वारा जरबेरा पुष्प के तीन हजार पौधे रोपित किये गये। उन्होने कहा कि उत्पादकों द्वारा अवगत कराया कि लाकडाॅउन होने के कारण कोरोना काल में उचित देख-रेख नही होने से पुष्प उत्पादन एवं आय में विपरीत प्रभाव पडा़। सिघल द्वारा बागवानी बार्ड, उद्यान विभाग से अनुदानित एक हजार वर्ग मी. पाॅलिहाउस में गुलाब पुष्प के पौधे को रोपित करने की तैयारी की जा रही है। उन्होने विपणन में आ रही समस्याओं से मुख्य विकास अधिकारी को अवगत कराया।
स्वेतांस चर्तुवेदी, वाॅटनिकल गार्डन कामनदेवपुर में 0.40 हे0 में उद्यान विभाग से वर्ष 2016-17 में मिशन योजना से छोटी पौधशाला विकास के अन्तर्गत तीन लाख रूपये का अनुदान प्राप्त कर आम,लीची,अमरूद फलपौध उत्पदान किये जा रहे फलपौध का भी निरीक्षण किया गया। उन्होने बताया कि अमरूद ग्राफटिंग कार्य गतिमान है तथा मातृ वृक्षों, पौधालय क्षेत्र की उचित देख-रेख की गई है। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा पौधालय स्वामी से उत्पादित किये जा रहे फल पौध के विपणन की जानकारी ली गई। सुखजीत कौर बताया कि एक हे0 में उद्यान विभाग द्वारा मिशन योजना से निशुल्क 1111 पौध पपीता प्रजाती रेडलेडी 786 रोपित पौधों का निरीक्षण किया। जो वर्तमान में उचित देख-रेख से अच्छी बढवार में है मिशन योजना से सिंचाई प्रब्धन हेतु लाभार्थी को ट्यूब वैल में 1 लाख 15 हजार रूपये का अनुदान दिया गया है कृषक द्वारा स्वंय के व्यय से 1500 पौधें टयुसुकल्चर विधि से तैयार लखनऊ-49 प्रजाति के पौध अन्तराशस्य के रूप में रोपित किये गये है भूस्वामी द्वारा टपक सिंचाई की मांग की गई, मुख्य विकास अधिकारी श्री नरेन्द्र सिंह भण्डारी द्वारा प्रभारी उद्यान को निर्देश दिये कि टपक सिंचाई पर आवश्यक कार्यवाही करते हुए कृषक का लाभान्वित किया जाए। दीप चन्द्र बेलवाल ने बताया कि सावल्दे पूर्व में एक हजार वर्ग मी0 में उच्च तककनीक से निर्मित एक हजार वर्ग मी0 पाॅलिहाउस में हाइड्रोपाॅनिक विधि से टमाटर की जैविक खेती से तैयार उत्पदान का निरीक्षण किया गया जा उद्यान विभाग द्वारा मिशन योजना से 50 प्रतिशत अनुदान से कृषक लाभानित है श्री भण्डारी द्वारा कृषक से टमाटर की जैविक खेती के बारे में विस्तार से विचार विमर्श किया गया। तत्पश्चात बेलवाल द्वारा अतिसंघन बागवानी विधि से 2011-12 में रोपित दो हे0 में 2600 आम मल्लिका प्रजाति के बाग का निरीक्षण भी किया। कृषक द्वारा बताया कि गया की इस वर्ष मेरे द्वारा फल उत्पादन का उचित रख-रखाव एवं पैकिंग कर चार टन जापान को निर्यात किय गया तथा चार टन दिल्ली महानगर में आॅनलाइन विपणन कर अच्छी आय प्राप्त की। श्री भण्डारी द्वारा प्रभारी को निर्देश दिये गये कि स्थानीय कृषकों को इस उद्यान कि भाति बाग लगाने के लिए प्रेरित करे जिससे कृषकों की आय में वृद्वि हो।
विकास खण्ड कोटाबाग के अन्तर्गत बलवरी कमबोज आदि नया गांव में प्रगतिशील पुष्प उत्पादक के यहां चार हजार वर्ग मी0 गुलाब की खेती पाॅच हजार वर्ग मी0 में जरबेरा की खेती तथा पाॅच हजार वर्ग मी0 मे डैजी की खेती का निरीक्षण किया गया जो राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड, उद्यान विभाग से राज सहायता प्राप्त हो कमबोज द्वारा पुष्प उत्पादन में आने वाले व्यय तथा प्राप्त होने वाली आय, विपणन व्यवस्था आदि के बारे में विस्मार से चर्चा की गई। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा पुष्प उत्पादन, औद्यानिकि क्षेत्र में किये जा रहे कार्यो पर सन्तोष व्यक्त किया गया तथा पुष्प क्षेत्र को बढाने के निर्देश प्रभारी को दिये ।

यह भी पढ़ें -  उत्तरकाशी और चमोली में पीएचसी के लिए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी स्वीकृति

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page