एसजेवीएन द्वारा अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर श्रीमती मैरी कॉम तथा श्रीमती अंजु बॉबी जॉर्ज की प्रेरक वार्ताएं की गई आयोजित

Ad
ख़बर शेयर करें

देहरादून- एसजेवीएन द्वारा अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर “ सततशील भविष्‍य के लिए वर्तमान में लैंगिक समानता” की थीम पर सुप्रसिद्ध सफल भारतीय महिलाओं श्रीमती मैरी कॉम विश्‍व एमेच्‍योर बॉक्सिंग चैंपियन एवं राज्‍य सभा सांसद ; तथा श्रीमती अंजु बॉबी जॉर्ज सुप्रसिद्ध भारतीय ओलम्पिक एथलीट की प्रेरक वार्ताओं का शिमला में आयोजन किया । ये वार्ताएं कंपनी के कर्मचारियों के लिए शिमला के निकट आज कुफरी और चायल में आयोजित की गई ।

चायल में वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित करते हुए, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री नन्‍द लाल शर्मा ने कहा कि महिलाएं पारंपरिक पूर्वाग्रहों को तोड़कर नई ऊंचाइयों को छू रही हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन पूर्वाग्रहों के खिलाफ हमारी लड़ाई में हमारे सामाजिक ताने-बाने में अभी बहुत सुधार किए जाने की जरूरत है। श्री शर्मा ने विश्व मुक्केबाजी चैंपियन श्रीमती मैरीकॉम तथा एसजेवीएन के निदेशक मंडल में पहली पूर्णकालिक निदेशक श्रीमती गीता कपूर द्वारा इन पूर्वाग्रहों को तोड़ने में किए गए प्रयासों की सराहना की। कार्यक्रम के दौरान श्री शर्मा ने हिमाचल रोडवेज परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एकमात्र महिला चालक श्रीमती सीमा ठाकुर को भी सम्मानित किया। उन्होंने आगे कहा कि हमारे समाज में लैंगिक समानता प्राप्त करने के लिए श्रीमती सीमा ठाकुर के जैसे प्रयासों की आवश्यकता है। उन्होंने श्रीमती सीमा ठाकुर को एक प्रशस्ति पत्र और 25,000/- रुपये का नकद इनाम भी प्रदान किया।

यह भी पढ़ें -  मेलाधिकारी दीपक रावत व पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल कनखल के धर्मध्वजा स्थापना कार्यक्रम में हुए शामिल

भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित श्रीमती मैरी कॉम ने अपनी वार्ता के दौरान अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी के स्तर तक आने के लिए आने वाली चुनौतियों के बारे में बताया। मैरी कॉम छह बार वर्ल्ड एमेच्योर बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीतने वाली एकमात्र महिला हैं, पहली सात वर्ल्ड चैंपियनशिप में से प्रत्येक में मेडल जीतने वाली एकमात्र महिला बॉक्सर और आठ वर्ल्ड चैंपियनशिप मेडल जीतने वाली एकमात्र बॉक्सर हैं।

इससे पूर्व, मुख्य अतिथि श्री नन्‍द लाल शर्मा और श्रीमती मैरी कॉम का स्वागत करते हुए निदेशक (कार्मिक), एसजेवीएन, श्रीमती गीता कपूर कहा कि इस तरह की प्रेरक वार्ता आयोजित करने का उद्देश्य कंपनी के सभी कर्मचारियों खासकर महिला कर्मचारियों में खेल भावना पैदा करना है। इस तरह की वार्ता आयोजित करके एसजेवीएन बिना किसी लैंगिक पूर्वाग्रह के विश्‍व को एक बेहतर समाज बनाने के लिए लैंगिक समानता के संदेश को प्रसारित करने के वैश्विक मिशन में सक्रिय रूप से भाग ले रहा है।

यह भी पढ़ें -  दुखद- नैनीताल के 30 वर्षीय युवक ने लगाई फांसी

अपनी प्रेरक वार्ता में कर्मचारियों से बात करते हुए श्रीमती अंजु बॉबी जॉर्ज ने बताया कि कैसे उन्होंने पेरिस में 2003 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में लंबी कूद में कांस्य पदक जीतकर देश के लिए एक नया इतिहास रचा । इस उपलब्धि के साथ, श्रीमती अंजू ने कहा कि वह 6.70 मीटर की छलांग लगाकर विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय एथलीट बन गई । श्रीमती अंजू जॉर्ज को 2002 में अर्जुन पुरस्कार, 2003 में खेल रत्न और 2004 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

एसजेवीएन पनबिजली, थर्मल, सौर और पवन ऊर्जा उत्पादन में 16800 मेगावाट से अधिक के कुल पोर्टफोलियो के साथ एक केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रम है। हाल ही में नई परियोजनाओं के जुड़ने से एसजेवीएन नई ऊंचाइयों पर पहुंच गया है। कंपनी अब एक त्‍वरित विकास पथ पर है जो अपने साझा विजन 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 25000 मेगावाट और 2040 तक 50000 मेगावाट स्थापित क्षमता को साकार करने का मार्ग प्रशस्‍त करेगा ।

(शैलेन्‍द्र सिंह)

महाप्रबंधक (निगम संचार)

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page