कौशल विकास एवं महिला सशक्तीकरण विषय पर जागरूकता सेमिनार किया गया आयोजित

Ad
ख़बर शेयर करें

राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य के निर्देश पर शीघ्र ही राजभवन देहरादून में कौशल विकास एवं महिला सशक्तीकरण विषय पर जागरूकता सेमिनार आयोजित किया जायेगा। इस सेमिनार में राज्य के सभी सहायक परियोजना निदेशक, बैंक प्रतिनिधि, छोटे-छोटे उद्यमों में सफलता प्राप्त करने वाली महिलाएँ तथा नए उद्यम आरम्भ करने की इच्छुक कम आय वर्ग की महिलाएँ प्रतिभाग करेंगी। इस सेमिनार में स्वरोजगार के इच्छुक ग्रामीण महिलाओं की समस्याओं व चुनौतियों पर चर्चा की जायेगी तथा उन्हें नए उद्यम स्थापित करने में सहायक सरकार एवं बैंकों द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दी जायेगी। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने राज्य के प्रत्येक जिले में भी कौशल विकास एवं महिला सशक्तीकरण विषय पर जागरूकता सेमिनार आयोजित करने के भी निर्देश दिए है। राज्यपाल श्रीमती मौर्य स्वयं उक्त जिलास्तरीय सेमिनारों में प्रतिभाग करेंगी।  राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने बृहस्पतिवार को राजभवन में स्किल इंडिया एवं महिला सशक्तीकरण में पंजाब नेशनल बैंक की भूमिका विषय कार्यक्रम में पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ गहन चर्चा की। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में रहने वाली महिलाओं को ऋण आसानी से मिल सके इसमें बैंकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। ग्रामीण लोगों विशेषकर महिलाओं की वित्तीय साक्षरता बढ़ायी जानी चाहिये। बैंकों द्वारा अपनी ग्रामीण शाखाओं के माध्यम से आस-पास के गांवों में वित्तीय साक्षरता को प्रोत्साहित किया जाना चाहिये। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने बैंक अधिकारियों को सुझाव दिया कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों में ग्रामीण महिलाओं को होमस्टे बनाने में सहायता हेतु आवासीय ऋण व्यवस्था के तहत ही सरलता से ऋण उपलब्ध करवाया जाय। उन्होंने पर्यटकों की जानकारी के लिये राज्यभर के होम स्टे के विवरण से सम्बन्धित एक कॉल सेन्टर स्थापित करने की बात भी कही। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि राज्य के विभिन्न जिलों में भौगोलिक परिस्थितियों एवं संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर रोजगार के अवसरों की संभावनाओं के सम्बन्ध में सर्वे करवाया जाना चाहिये। राज्यपाल ने कहा कि कौशल विकास के माध्यम से महिला सशक्तीकरण के प्रयासों मे कोरपोरेट व निजी क्षेत्र से सहयोग एवं समन्वय किया जा सकता है। राज्यपाल श्रीमती मौर्य के उक्त सुझावों पर बैंक अधिकारियों द्वारा शीघ्र ही प्रस्ताव प्रस्तुत किये जायेंगे। पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों ने जानकारी दी की उत्तराखण्ड में पंजाब नेशनल बैंक के 330 शाखाओं के माध्यम से निकटवर्ती ग्रामों में वित्तीय साक्षरता, कौशल विकास, महिला सशक्तीकरण एवं स्वरोजगार को प्रोत्साहित करने हेतु कार्य किये जा रहे हैं। बैठक में पंजाब नेशनल बैंक के जीएम श्री आर के सेवक, डीजीएम श्री अशोक गुप्ता, श्री यशपाल राजपूत, सुश्री सुगन्ध अग्रवाल, श्री श्रेयस अग्रवाल, श्री डी एस भण्डारी आदि उपस्थित थे।   

Ad
Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page