ब्लू डार्ट ने क्यू4 और वर्षांत के सकारात्मक नतीजे दिखाकर किया रिकॉर्ड प्रदर्शन

ख़बर शेयर करें

ब्लू डार्ट ने क्यू4 और वर्षांत के सकारात्मक नतीजे दिखाकर रिकॉर्ड प्रदर्शन किया

कंपनी ने वर्ष 2021-22 के लिए ₹ 44,090 मिलियन की बिक्री और ₹ 3,764 मिलियन का कर-पश्चात लाभ दर्ज किया

देहरादून, 07 मई, 2022: दक्षिण एशिया की प्रमुख एक्सप्रेस एयर और एकीकृत परिवहन एवं वितरण कंपनी ब्लू डार्ट एक्सप्रेस लिमिटेड ने मुंबई में आयोजित बोर्ड बैठक में 31 मार्च, 2022 को समाप्त तिमाही और वर्षांत के लिए अपने ऑडिट किए हुए वित्तीय परिणाम घोषित किए।

कंपनी ने 31 मार्च, 2022 को समाप्त तिमाही के लिए ₹ 1,354 मिलियन कर-पश्चात लाभ (पिछले वर्ष यह ₹ 891 मिलियन था) और 31 मार्च, 2022 को समाप्त वर्ष के लिए ₹ 3,764 मिलियन कर-पश्चात लाभ (पिछले वर्ष यह ₹ 963 मिलियन था) दर्ज किया। 31 मार्च, 2022 को समाप्त तिमाही के लिए परिचालन से प्राप्त राजस्व ₹ 11,659 मिलियन रहा और 31 मार्च, 2022 को समाप्त वर्ष के लिए यह ₹44,090 मिलियन दर्ज किया गया।

कंपनी ने हाल के दिनों का सबसे मजबूत प्रदर्शन किया है। चुनौतीपूर्ण भू-राजनीतिक परिदृश्य के बावजूद वॉल्यूम बढ़ने और बेहतर प्राप्ति के बीच बढ़िया तालमेल की बदौलत टॉपलाइन में 21% की वृद्धि हुई। इस तिमाही के लिए इबिटडा ₹2,264 मिलियन है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 25.7% अधिक है। पिछले वर्ष के 18.6% की तुलना में इबिटडा मार्जिन भी 19.4% तक सुधर गया है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए राजस्व पिछले वर्ष की तुलना में 34% की वृद्धि के साथ ₹44,090 मिलियन रहा। पिछले वर्ष की तुलना में पूरे वर्ष का इबिटडा 92% की वृद्धि के साथ ₹6,963 मिलियन रहा। पिछले वर्ष के ₹963 मिलियन की तुलना में पैट ₹3,764 मिलियन रहा। पिछले वर्ष महामारी के दौरान शुरू किए गए अंतरराष्ट्रीय चार्टर्स ने चालू वित्तीय वर्ष में भी कंपनी के राजस्व को बढ़ाना जारी रखा।

बेहतर प्राप्ति, लागत दक्षता के सतत कार्यक्रम और वित्तीय री-इंजीनियरिंग के बल पर टॉपलाइन में हुई अच्छी-खासी वृद्धि ने कंपनी को तिमाही के साथ-साथ वित्तीय वर्ष 2021-22 में चुनौतीपूर्ण भू-राजनीतिक हालात के बावजूद अपना मार्जिन सुधारने में मदद पहुंचाई। इसके अलावा कंपनी अपनी रफ्तार, पारदर्शिता और कार्यदक्षता बेहतर बनाने की दिशा में ऑटोमेशन और डिजिटलीकरण का सफर जारी रखे हुए है। ब्लू डार्ट ने एक बार फिर अपनी सामर्थ्य सिद्ध की है, यह मजबूती से खड़ी हुई है और राष्ट्र को इसके ट्रेड फेसिलिटेटर के रूप में सहयोग कर रही है।

निदेशक मंडल ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कंपनी के शेयरधारकों को ₹60/- प्रति शेयर (600%) का कुल लाभांश देने की सिफारिश की है। चूंकि कंपनी ने फरवरी 2022 में पहले ही ₹ 25/- (250%) प्रति शेयर के हिसाब से अंतरिम लाभांश का भुगतान कर दिया था, इसलिए कंपनी के शेयरधारकों को ₹ 35/- (350%) प्रति शेयर के प्रस्तावित अंतिम लाभांश का भुगतान किया जाएगा, जो एनुअल जनरल मीटिंग में अनुमोदित होने के अधीन है।

यह भी पढ़ें -  आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत विकास भवन में अधिकारीगणों एवं कर्मचारियों द्वारा निकाली गई घर घर तिरंगा रैली

प्राप्त होने योग्य चीजों के बेहतर प्रबंधन और नकदी के सतत प्रवाह के दम पर कंपनी ने अपनी और अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियों की पूरी बैंक उधारी चुका दी है, जिससे न केवल वित्तीय लागत कम हुई है बल्कि कर्ज से भी छुटकारा मिल गया है।

पीएम गति शक्ति (मल्टी मोडल कनेक्टिविटी का नेशनल मास्टर प्लान), समर्पित फ्रेट कॉरिडोर, लॉजिस्टिक्स पार्क, इकानॉमिक ज़ोन, समर्पित रेल कॉरिडोर और समर्पित जलमार्गों के माध्यम से बुनियादी ढांचा सुधारने पर सरकार का ध्यान केंद्रित रहने से माल की ढुलाई आसान हो जाने की उम्मीद है। इसके अलावा “मेक इन इंडिया”, “आत्मनिर्भर भारत” और विभिन्न सेक्टरों के लिए विस्तारित पीएलआई स्कीम जैसी योजनाओं से आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने की संभावना है। इन सभी पहलों से देश का समग्र आर्थिक परिदृश्य बेहतर बनेगा। कंपनी ऊंचे वॉल्यूम हैंडल करने और विकास के अवसर भुनाने हेतु अपनी वायु क्षमता तथा जमीनी बुनियादी ढांचा समुन्नत बनाने के लिए कमर कस रही है।

समीक्षाधीन वर्ष में कंपनी ने अपने कर्मचारियों को महामारी के दौरान किए गए उनके प्रयासों के पुरस्कार स्वरूप 300 यूरो का अतिरिक्त बोनस (कोविड बोनस) देकर एक बार फिर से सम्मानित किया है।

सेवा के मामले में अपनी श्रेणी की सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता प्रदान करके बेहतर ग्राहक अनुभव के दम पर कंपनी ने अच्छी-खासी वृद्धि दर्ज की और वर्ष के दौरान 264 मिलियन (पिछले वर्ष यह संख्या 186 मिलियन थे) शिपमेंट ढोए, जो 932,690 टन (पिछले वर्ष यह मात्रा 718,521 टन थी) के बराबर है।

ब्लू डार्ट के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री. बॅलफर मैनुअल, ने बताया, “पूरे वर्ष के दौरान हमने अपने सभी हितधारकों के लिए असाधारण लचीलापन, जवाबदेही और विश्वसनीयता दर्शाई है, जो हमारे क्यू4 और वर्षांत के वित्तीय प्रदर्शन में परिलक्षित हो रही है। ग्राहक-प्रथम पर केंद्रित हमारा ध्यान, प्रौद्योगिकी क्षमताओं में हमारा निवेश और इसके चलते वीयूसीए वातावरण में जोश बरकरार रहने से कंपनी को अपने मार्जिन सुधारने में मदद मिली। एफवाय2021-22 एक फलदायक वर्ष साबित हुआ है। ब्लू डार्ट ने सभी मापदंडों पर एक बार फिर ‘कनेक्टिंग पीपल, इम्प्रूविंग लाइव्स’ वाले हमारे विजन को साकार किया है। हमें एक टॉप एम्प्लॉयर, ग्रेट प्लेस टू वर्क के साथ-साथ बेस्ट वर्कप्लेस फॉर वीमेन के रूप में भी मान्यता दी गई है। हम अपने ग्राहकों की लॉजिस्टिक्स से जुड़ी तमाम जरूरतें पूरी करते हुए मजबूती के साथ खड़े रहे। कोविड-केयर अस्पतालों में शिपमेंट भेजने से लेकर नवाचार को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने तक राष्ट्र के ट्रेड फैसिलिटेटर के तौर पर हमने अपने कर्तव्य निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।”

भविष्य के दृष्टिकोण पर टिप्पणी करते हुए श्री. बॅलफर मैनुअल कहते हैं, “हर मोड़ पर उत्कृष्टता प्रदान करने के लिए ग्राहकों की ज़रूरतों को उनके उत्पन्न होने से पहले ही पूर्व-निर्धारित कर लेना अहम बात होती है। इसे ध्यान में रखते हुए हम अपनी ग्राउंड और एयर एक्सप्रेस क्षमता का विस्तार करने की योजना बना रहे हैं, जो हमारी सेवा की गुणवत्ता को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगी। हम एक अति ग्राहक-केंद्रित संगठन बने हुए हैं और इसीलिए हर टचपॉइंट पर उत्कृष्टता प्रदान करने हेतु नवाचार से काम लेना हमारी एक मुख्य प्राथमिकता बना हुआ है। ब्लू डार्ट मेड-एक्सप्रेस कंसोर्टियम हमारे फायदे के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने की हमारी क्षमता का प्रमुख उदाहरण है; आगे बढ़ते हुए हम यह सुनिश्चित करके डिजिटलाइजेशन में निवेश करना जारी रखेंगे कि महामारी जैसी किसी और अप्रत्याशित विपत्ति की सूरत में आपूर्ति श्रृंखला की निरंतरता बाधित न होने पाए।”

यह भी पढ़ें -  पिथौरागढ़ जिले में कोरोना वैक्सीन के बनाए गए कुल 25 टीकाकरण केन्द्र

सर्वश्रेष्ठ होने और रफ्तार तय करने से जुड़ी ब्लू डार्ट की प्रतिबद्धता इसके परिचालन की सीमाओं से बाहर निकल कर व्यापक पैमाने पर पूरे समुदाय के साथ जुड़ गई है। एक पसंदीदा सस्टेनेबल प्रदाता के रूप में ब्लू डार्ट ऐसी पहली कंपनी थी, जिसने मात्रात्मक कार्बन-दक्षता का लक्ष्य निर्धारित किया था तथा यह पर्यावरण व समाज कल्याण की दिशा में अपना योगदान जारी रखे हुए है। ड्यूश पोस्ट डीएचएल ग्रुप का हिस्सा होने के तौर पर ब्लू डार्ट खुद को ग्रुप के सस्टेनेबिलिटी रोडमैप के साथ संरेखित करती है और जलवायु संरक्षण (पर्यावरण) के लिए साफ-सुथरे परिचालन की दिशा में काम करना जारी रखे हुए है। यह सभी के लिए (सामाजिक) काम करने लायक एक बेहतरीन कंपनी होने के साथ-साथ अत्यंत भरोसेमंद कंपनी (गर्वर्नेंस) है। संगठन ने इस पैरामीटर पर महत्वपूर्ण प्रगति की है और सस्टेनेबल पहलों में निवेश करना जारी रखेगी, जो संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजीज) का भी समर्थन करती हैं।

ग्रुप के ‘मिशन 2050’ लक्ष्य के तहत 2050 तक ज़ीरो कार्बन इमीशंस हासिल करना ब्लू डार्ट का लक्ष्य है। इसके अनुसार संगठन का लक्ष्य ग्लोबल वार्मिंग को 2ºसी से कम तक सीमित करना और कारोबार को ज़ीरो इमीशंस लॉजिस्टिक्स की ओर ले जाना है। इस प्रकार यह ग्रुप लॉजिस्टिक्स सेक्टर के लिए भविष्य के मानक निर्धारित करने और दुनिया की मदद करने में अपनी भूमिका निभा रहा है। मिशन 2050 पहल के तहत चार वर्षों से अधिक समय से ब्लू डार्ट ने ड्यूश पोस्ट डीएचएल द्वारा निर्धारित हर साल 10 लाख पेड़ लगाने के वैश्विक लक्ष्य में 10% से अधिक का योगदान दिया है। वर्ष 2012 तक कार्बनडाइऑक्साइड दक्षता में 10% और वर्ष 2020 तक इसमें 30% की वृद्धि करना कंपनी का लक्ष्य था। इस 30% लक्ष्य के मुकाबले ब्लू डार्ट ने 2021 में 34% कार्बनडाइऑक्साइड दक्षता हासिल कर ली थी।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 7017197436 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page