नैनीताल पहुंचा साइबेरिया मूल का प्रवासी पक्षी कार्मोरेट

ख़बर शेयर करें

  • फोटोग्राफी में नैनीताल का नाम रोशन करना चाहती है रत्ना साह
    नैनीताल। कमल बिष्ट
  • सरोवर नगरी को प्रकृति ने बहुत कुछ दिया है। लेकिन यहा का जीव जगत विभिन्नताओं से भरा है। इन दिनों नैनीझील में साइबेरिया मूल का प्रवासी पक्षी कार्मोरेट यानी पनकौवा पहुंच गया है। इस पक्षी को नैनीताल की छायाकार रत्ना साह ने अपने कैमरे कैद किया। इस बार यह पक्षी नैनीझील में बहुत देर से पहुंचा है। पक्षी की यह खासियत है कि पक्षी पानी के अंदर 15 मिनट तक रह सकता है। और पलक झपकते ही मछलियों को पकड़ लेता है यह पक्षी सुबह और रात को मालरोड में पेड़ों में बैठा रहता और दिन में मछलियों का शिकार करता है। और झील तरह-तरह की कलाबाजी करने वाला पक्षी स्थानीय लोगों और पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। यह पक्षी साइबेरिया, अफगानिस्तान और तिब्बत आदि क्षेत्रों में ठंड बढ़ने व बर्फबारी और जिलों में जलाशय को जमने के कारण मध्य हिमालय क्षेत्र से यहां पहुंचते हैं। नैनीझील में धूप का आनंद लेते हुए दिखते हैं। वहीं उन्होंने नगर में होने वाले फोटोग्राफी प्रतियोगिता में अपना नाम रोशन किया है। उन्होंने बताया कि अलग-अलग स्थानों की फोटोग्राफी करने के लिए उनके मित्रों ने उनकी सहायता की है। उन्होंने बताया कि वह फोटोग्राफी में अपने राज्य और अपने नगर नैनीताल का नाम रोशन करना चाहती है।
  • नगर में होने वाली सभी फोटोग्राफी प्रतियोगिता में वह हमेशा भाग लेती है। और कई प्रतियोगिता में उन्होंने कई ट्रॉफी अपने नाम की है। उन्होंने बताया कि वह उन्होंने अकेले ही फोटोग्राफी सीखी है। और आज ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जो उनके नाम से मोहताज नहीं हो। उनकी खींची गई फोटो का अखबारों में चर्चाओं का विषय बनता जा रहा है। अलग-अलग जगह से फोटोग्राफी करने के लिए उनको उनके मित्रों ने सहायता की है। आज नगर फोटोग्राफी में वह चमकता हुआ चेहरा है।
यह भी पढ़ें -  क्यों कहते हैं कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा ?
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page