जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने दिब्यांग बच्चों के साथ मनाया राष्ट्रीय मतदाता दिवस

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी- नेशनल एसोशिएशन फाॅर द ब्लाइन्ड (नैब) आवासीय संशाधन केन्द्र गौलापार में जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने दिब्यांग बच्चों के साथ राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया। बच्चों द्वारा मतदाता जागरूकता सम्बन्धित गीत, नुकड नाटक व सांस्कृतिक कार्यक्रम किये गये।
जिलाधिकारी श्री बसंल ने नैब के आवासीय भवन, लाइब्रेरी, कम्प्यूटर लैब, कक्षाओं का निरीक्षण किया। निरीक्षण दौरान उन्होने जिला प्रोवेशन अधिकारी को निर्देश दिये कि वे नैब हेतु शिक्षकों, वाहनों हेतु ईधन, सोलर स्टीम कूकिंग प्लाट, फर्नीचर, बैडिंग, अन्य संस्थागत विकास का प्रस्ताव प्रस्तुत करें। ताकि कार्यो हेतु धनराशि उपलब्ध कराई जा सकें। उन्होने नैब में स्थापित सोलर हीटर प्लाट व सोलर पाॅवर प्लाट की मरम्मत का प्रस्ताव आगणन प्रस्तुत करने के निर्देश परियोना प्रबन्धक उरेडा को दिये। लाइब्रेरी निरीक्षण दौरान जिलाधिकारी ने प्रबन्धक नैब श्याम धानिक को लाइब्रेरी मे बे्रललिपि में महापुरूषों की जीवनी की किताबें पर्याप्त मात्रा में रखने के निर्देश दिये। ताकि बच्चे महापुरूषों की जीवनी से प्रेरित हो सके। निरीक्षण दौरान जिलाधिकारी ने समाज कल्याण अधिकारी से नैब के बच्चों मिल रही छा़त्रवृति की जानकारी लेते हुए सभी पात्र बच्चों को समय से छात्रवृति देने के निर्देश दिये। उन्होने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को नैब के सभी बच्चों का समय-समय पर शिविर लगाकर स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ ही राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम की टीम द्वारा भी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के निर्देश दिये।
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नैब के बच्चों द्वारा मतदाता जागरूकता गीत, नाटक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों से अभिभूति हो कर जिलाधिकारी ने सुन्दर मतदाता गीत गाने पर सौरभ आर्य को 5000 रूपये, मतदाता जागरूकता भाषण पर प्रकाश को 2500 रूपये, संचालन कर रही दो बालिकाओं एक-एक हजार रूपये, मतदाता जागरूकता लघु नाटिका दल को 3000 रूपये तथा बच्चों की नृत्य टोली को उनके सुन्दर प्रर्दशन पर 3000 रूपये नकद पुरूस्कार दिये। साथ ही जिलाधिकारी ने नैब के बच्चों को गरम ऊनी वस्त्र व मिठाई वितरित की।
सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कुशल प्रतिनिधि के चयन हेतु आम जनता का दायित्व है कि वे शतप्रतिशत अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। उन्होने कहा कि नैब में बच्चों को दी जा रही शिक्षा व संस्कार पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होने संस्थान की सरहाना की। उन्होने कहा कि बच्चे संस्कारित हो कर मन लगाकर शिक्षा ग्रहण करें, उन्होने कहा कि दिब्यांग बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ने हेतु जो भी सुविधाओं व संसाधनों का अभाव है उन्हें उपलब्ध कराया जायेगा।
कार्यक्रम में प्रबन्धक श्याम धानिक ने नैब में आकर बच्चों के उत्साहवर्धन हेतु सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। उन्होने बताया कि 2009 में मात्र 05 बच्चों से संचालित इस संस्थान में आज 124 बच्चें रहते है। जिनको आवासीय सुविधा के साथ ही उनकी पढाई लिखाई, कम्प्यूटर शिक्षा आदि दी जाती है। उन्होने बताया कि संस्थान में और संस्थागत विकास होने पर विशेष अभियान चलाकर दूरदराज में रह रहें जरूरत मन्द दिब्यांग बच्चों को संस्थान से जोडा जायेगा।

यह भी पढ़ें -  कुमाऊं में कहे जाने वाले प्रवेश द्वार हल्द्वानी के प्रमुख चौराहों पर कुमाऊनी सांस्कृतिक व महापुरुषों के मधुर स्मृतियों से आकर्षित होंगे पर्यटक- डीएम श्री सविन बंसल

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page