आयुक्त सुशील कुमार व डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने युग पुरूष एवं राष्ट्रपिता महात्मा गॉधी जी व देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों का अनवारण कर, किये श्रद्धा सुमन अर्पित

ख़बर शेयर करें

नैनीताल – युग पुरूष एवं राष्ट्रपिता महात्मा गॉंधी तथा देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती जनपद भर में कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के अनुसार सादगी से मनायी गयी। मण्डलायुक्त सुशील कुमार ने कमिश्नरी कार्यालय में तथा जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने कलैक्ट्रेट में गॉधी जी व लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों का अनवारण कर, उनको श्रद्धा सुमन अर्पित किये। शासकीय भवनो पर राष्ट्रीय ध्वज भी फैराया गया तथा आयोजित कार्यक्रमों में राम धुन के गायन के साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गॉंधी तथा लाल बहादुर शास्त्री के व्यक्तित्व एवं उनके द्वारा किये गये कार्यों पर चर्चा की गयी।
कमिश्नरी में आयोजित कार्यक्रम में मण्डलायुक्त सुशील कुमार ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गॉंधी तथा लाल बहादुर शास्त्री जी दोनो ही सादा जीवन-उच्च विचार वाले व्यक्तित्व थे। इन्होंने दुनिया को भेदभाव मिटाने, भावात्मक व सामाजिक समरसता का संदेश दिया। आज के भौतिकवादी युग में गॉधी जी के सत्य, अहिंसा व प्रेम के सिद्धान्त सर्व मान्य हैं। गॉंधी जी ने विश्व बन्धुत्व का भी रास्ता लोगो को दिखाया था। आज के दौर में जरूरत है कि हम सभी अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में पूरी निष्ठा व ईमानदारी से कार्य करते हुए देश के विकास एवं नव निर्माण में योगदान देते रहें। उन्होंने कहा कि जय जवान जय किसान का संदेश देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के आदर्शों एवं सिद्धान्तों को भी अपनी कार्य प्रणाली में उतारना चाहिए। हमारा जीवन सादगी भरा हो और हम समर्पण भाव से कार्य करें। उन्होंने कहा कि देश को स्वावलम्बी एवं आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में सभी को एकजुट होकर कार्य करना होगा। उन्होंने इस बात पर भी बल दिया कि हम सबको गॉधी जी के सिद्धांतों को आत्मसात करते हुए एक बेहतर इंसान बनने का प्रयास करना चाहिए साथ ही हमें अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का इमानदारी पूर्वक व दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ निर्वहन करना चाहिए और यह प्रयास करना चाहिए कि ऐसे वंचित एवं दुर्बल व्यक्ति जो समाज की मुख्य धारा से नहीं जुड़ पाये है व न केवल समाज की मुख्य धारा से जुड़े बल्कि समाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन भी कर सके। कमिश्नरी में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य प्रशासनिक अधिकारी हरीश लाल वर्मा, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी तुलसी आर्या, मुख्य वैयक्तिक अधिकारी हरेन्द्र सिंह गैड़ा, वरिष्ठ वैयक्ति सहायक बन्टी सिंह, प्रधान सहायक गिरीश चन्द्र आर्य, संजय खत्री, मनोज जोशी, सतीश पाण्डे, वरिष्ठ सहायक धर्मेन्द्र सिंह बिष्ट, कनिष्ठ सहायक विक्रम बोरा, सुनीता थापा आदि मौजूद थे।
कलैक्ट्रेट में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन तथा देश की आजादी में योगदान के बारे में प्रकाश डालते हुए कहा कि हमें उनके सपनों को साकार करने के लिए उनके आदर्शो एवं बताये हुए मार्ग पर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि गॉधी जी की सिद्धांत सत्य अंहिसा, अन्तोदय आदि न केवल प्रासांगिक है बल्कि भारतीय समाज की एक मजबूत जड़ के रूप में भी स्थापित है, जो हमें उच्च विचारों एवं परस्पर सहयोग की भावना से जीवन यापन करते हुए एक स्वस्थ व मजबूत समाज बनाने के लिए प्रेरित करते है। उन्होंने कहा कि हमे अपने कार्यों एवं दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा व ईमानदारी से देश व समाज हित में करना चाहिए, यहीं महापुरूषों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस अवसर पर कमिश्नरी में मण्डलायुक्त सुशील कुमार ने तथा जिला कार्यालय में जिलाधिकारी ने मतदाता जागरूकता शपथ दिलाई।
          जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन द्वारा तल्लीताल डॉठ स्थित गॉधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किये, साथ ही बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर, गोविन्द बल्लभ पन्त, शहीद मेजर राजेश अधिकारी की मूर्ति पर भी माल्यापर्ण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस दौरान जिला पर्यटन विकास अधिकार अरविन्द गौड़, अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा आदि उपस्थित थे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page