पेटीएम पेमेंट्स बैंक के ग्राहक अब कर सकते हैं पेटीएम यूपीआइ हैंडल के द्वारा आसानी से निवेश

ख़बर शेयर करें

देहरादून-. भारत के स्वदेशी पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड ;पीपीबीएलद्ध ने आज घोषणा की है कि इसके ध्पेटीएम यूपीआइ हैंडल को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ;एसइबीआईद्ध से स्वीकृति मिल गई है। इससे अब आईपीओ आवेदन के लिए तीव्र और निर्बाध भुगतान आदेश किया जा सकेगा। इस कदम से लाखों यूजर्स को अपने.अपने ध्पेटीएम यूपीआइ हैंडल का प्रयोग करके विभिन्न ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म्स के माध्यम से पूँजी बाजार में निवेश करने की सुविधा उपलब्ध होगी। पीपीबीएल सबसे बड़ा यूपीआइ बेनेफिशिएरी बैंक है और इसके पास यूपीआइ के लेन.देन प्रोसेसिंग हेतु सबसे बढ़िया तकनीकी इंफ्रास्ट्रक्चर है। एनपीसीआई की नई रिपोर्ट के अनुसारए पीपीबीएल ने सभी यूपीआइ विप्रेशक बैंकों की तुलना में 0ण्02 प्रतिशत और सभी यूपीआइ लाभार्थी बैंकों की तुलना में 0ण्04 प्रतिशत की न्यूनतम तकनीकी ह्रास दर दर्ज की।

Matrix Hospital

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने आईपीओ आवेदनों के लिए भुगतान आदेश सक्रिय करने के लिए पेटीएम मनी के साथ साझेदारी भी की है। पेटीएम मनी वेल्थ प्रोडक्ट्स के लिए भारत का विकास उत्प्रेरक है और यह वित्त वर्ष 2022 तक 10 मिलियन भारतीयों को जोड़ने के मिशन के साथ काम कर रहा है। इस प्लेटफॉर्म की स्टॉक ब्रोकिंग पेशकशों से अछूते सेगमेंट में ज्यादा सक्रिय प्रत्यक्ष इक्विटी निवेशकों को लाने में मदद मिल रही है। इसने साल के अंत तक 3ध्5 लाख से अधिक डीमैट खाता खोलने का लक्ष्य रखा है और इसे आशा है कि 60 प्रतिशत यूजर्स छोटे शहरों से होंगे। यह आरंभिक सार्वजनिक निर्गम ;आइपीओद्ध में निवेश के साथ निधि निर्माण पर केंद्रित है और इसने आइपीओ आवेदन की प्रक्रिया को पूरी तरह से डिजिटल और सरल बना दिया है।

यह भी पढ़ें -  निदेशक प्रो.ललित तिवारी ने पीएचडी के शोधार्थियों को शोध एवम् बौद्धिक सम्पदा अधिकार विषय पर दिया व्याख्यान

पेटीएम मनी के अलावाए ध्पेटीएम यूपीआइ को शीघ्र ही सभी ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म्स पर सक्रिय किया जाएगा। सुरक्षित तरीके से निर्बाध भुगतान करने की आसानी से एक वेल्थ प्रोडक्ट के रूप में आईपीओ को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी और एक मजबूत पोर्टफोलियो के निर्माण के इच्छुक नए यूजर्स को जुड़ने का प्रोत्साहन मिलेगा।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के एमडी और सीईओए सतीश गुप्ता ने कहा किए श्हम अपने उपयोक्ताओं को जीवन के सभी पहलुओं के लिए सुविधाजनक और निर्बाध डिजिटल भुगतान मुहैया करने के लिए लगातार प्रयासरत रहे हैं। आईपीओ के लिए आवेदन करने हेतु ध्पेटीएम यूपीआइ को इनेबल करके हम लाखों निवेशकों को निर्बाधए सुरक्षित और त्वरित भुगतानों की सुविधा प्रदान कर रहे हैंए ताकि उनके वित्तीय पोर्टफोलियो में वृद्धि हो सके। हमारा मानना है कि हर भारतीय को पूँजी बाजारों की सुलभता और स्टॉक मार्केट में सूचीबद्ध सफल कंपनियों की बढ़ती संख्या का लाभ उठाने का अधिकार है। इस स्थिति में भारी संभावना मौजूद है और हमारा अभिप्राय अपने देश के नागरिकों के लिए प्रक्रिया को ज्यादा सुलभ बनाना है। यह सम्पूर्ण देश में वित्तीय समावेशन को आगे बढ़ाने के हमारे मिशन के अनुरूप है।श्

विविध आईपीओ में निवेश करने से निवेशकों को बढ़त मिलती हैए क्योंकि वे एकदम शुरुआत ही से कंपनी के व्यावसायिक सफर का हिस्सा बन जाते हैं और इस प्रकारए जैसे.जैसे कारोबार बढ़ता हैए निवेशक का धन भी बढ़ता जाता है। इस वर्ष के आईपीओ आंकड़ों के आधार पर यह आसानी से कहा जा सकता है कि भारत में आईपीओ के लिए बहुत बड़ी माँग है। वित्त वर्ष 2021 से देश के स्टॉक एक्सचेंज ;एनएसई और बीएसईए दोनों को मिलाकरद्ध पर लगभग 24 आईपीओ आये और पूँजी बाजारों से कुल 48ए493 करोड़ रुपये की राशि एकत्र की। वित्त वर्ष 2021 के कुछ सबसे सफल आईपीओ में बर्गर किंगए हैप्पीएस्ट माइंडसए इंडिगो पेंट्सए और मिसेज बेक्टर्स फूड स्पेश्यिलिटीज सम्मिलित हैंए जिन्होंने एक दिन में 100 प्रतिशत से अधिक लिस्टिंग का लाभ दर्ज किया था। एनएसई के आंकड़ों के अनुसारए इनमें से बर्गर किंग और हैप्पीएस्ट माइंडस को क्रमशः 156ण्65 गुणा और 150ण्98 गुणा ओवरसब्सक्राइब किया गया और इन दोनों ने सूचीकरण के दिन 130ण्67 प्रतिशत और 123ण्49 प्रतिशत का प्रतिलाभ प्रदान किया। आईपीओ बाजार को जोमैटोए एलआईसीए कल्याण ज्वेलर्स और अन्य जैसे नए ऑफर्स के लिए खुदरा बाजार में अनेक बड़ी कंपनियों के आने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें -  सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखण्ड कन्क्लेव कार्यक्रम में हुए शामिल

Ad-Pandey-Cyber-Cafe-Nainital
Ad-Jamuna-Memorial
Pandey Travels Nainital
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page