बीती रात जारी रहा हाथियों का आतंक,तोड़ी दीवारें व किया फसलों का नुकसान

ख़बर शेयर करें

लालकुआ विधानसभा क्षेत्र के बागजाला गांव में हाथियों ने किसानों की धान की कई एकड़ फसल रौंद डाली किसानों ने वन विभाग से हाथियों पर रोक लगाने तथा फसल का मुआवजे दिलाने की मांग की है ।
बताते चलें कि बीती रात हाथियों ने बागजाला गांव में पहुंचकर जगदीश आर्य,गोविंद राम ,दीवान राम,प्रेमकुमार की धान की फसल को रौंद डाला जिससे काफी नुकसान होने की संभावना है इतना ही नहीं हाथी ने बागजाला गांव के जूनियर हाई स्कूल कि दीवार तोड़कर परिसर में लगे वालब्रेशन को तोड़ते हुए दूसरी तरफ निकलने के लिए विद्यालय की दीवार को भी तोड़ दिया जिससे विद्यालय की सुरक्षा व्यवस्था चरमरा गई है विद्यालय परिसर में बच्चों को खतरा बना हुआ है साथ ही स्कूल में चोरी कि सम्भावना भी बढ़ गई है।

वीओ, इधर हाथियों द्वारा किये किसानों की फसलों के नुकसान का आज नैनीताल काग्रेंस एससी विभाग के जिला अध्यक्ष इन्दर पाल आर्य ने क्षेत्र के पीड़ित किसानों के साथ खेतों का मौका मुआयना किया इस दौरान उन्होंने सरकार से किसानों के हुए नुकसान पर तुरंत मुआवजा देने की मांग की है
उन्होंने कहा कि वन विभाग से अनेक बार शिकायत करने के बाद भी विभाग कोई ठोस कदम नही उठाया जा रहा है
उन्होंने कहा कि किसानों की धान की फसल पर हाथी देर रात आये और उनकी फसलें रौंदकर चले गए जिसे किसानों की धान की फसल बर्बाद हो गई है उन्होंने कहा कि हाथी के आंतक से किसानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है।
उन्होंने कहा कि हाथियों ने गांव के जुनियर हाई स्कूल कि दीवार को भी तोड़ डाला जिसे स्कूल में चोरी और विघालय परिसर में बच्चों को खतरा बना गया है उन्होंने वन विभाग से मांग की है कि शीघ्र ही हाथी के द्वारा तोड़ी गयी दीवार का पुनर्निर्माण किया जाए ताकि विद्यालय में बच्चे सुरक्षित शिक्षा ग्रहण कर सकें ।
साथ ही उन्होंने ने वन विभाग और सरकार से हाथियों पर रोक लगाने तथा किसानों की उजाड़ी फसल का मुआवजा दिलवाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें -  घी संक्रांति उत्तराखंड का प्रमुख लोकपर्व घी घ्यूं त्यार

रिपोर्टर, मुकेश कुमार

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 7017197436 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page