प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने बेतालघाट पहुॅचकर बेतालेश्वर सेवा समिति द्वारा नव निर्मित वृद्धाश्रम व अनाथालय का किया लोकार्पण

ख़बर शेयर करें


बेतालघाट/नैनीताल- गुरूवार को प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने जनद के दूरस्थ क्षेत्र बेतालघाट पहुॅचकर बेतालेश्वर सेवा समिति द्वारा नव निर्मित वृद्धाश्रम, अनाथालय, शिवालय मन्दिर, एम्बुलैंस सेवा, पटोरी पार्क व अम्बेडकर मूर्ति का वैदिक मंत्रों के बीच लोकार्पण किया साथ ही प्रभु प्रेम आयुष धाम कार्य का शिलांयास भी किया। कार्यक्रम में समिति के अध्यक्ष राहुल अरोरा द्वारा राज्यपाल को प्रतीक चिन्ह भेंट किया तथा अंग वस्त्र से भी सम्मानित किया।

Matrix Hospital


कार्यक्रम में उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने बेतालेश्वर सेवा समिति द्वारा क्षेत्र में किये जा रहे जनहित के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि समिति द्वारा किये जा रहे कार्य प्रशंसनीय एवं प्रेरणादायक हैं। उन्होंने वृद्धाश्रम का नाम माता घर व अनाथालय का नाम भैया-बहन घर रखने को कहा। श्रीमती मौर्य ने कहा कि हमें सरकार के साथ ही अपने स्तर से भी जन कल्याण के बारे में सोचना एवं कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि गरीबों एवं जनमानस की सेवा ही सच्ची ईश्वर आराधना है। उन्होंने कहा कि समिति द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार के क्षेत्र में जो कार्य किये जा रहे हैं, वे सराहनीय हैं। समिति द्वारा क्षेत्र के बच्चों, महिलाओं के लिए कोचिंग, कैरियर काउंसिलिंग, संगीत प्रशिक्षण, सिलाई-कढ़ाई प्रशिक्षण कार्य किये जा रहे हैं, उनका महिलाऐं एवं विद्यार्थी लाभ उठाकर स्वरोजगार अथवा रोजगार की ओर कदम बढ़ायें।

यह भी पढ़ें -  सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने श्री केदारनाथ एवं श्री बदरीनाथ के पुनर्निर्माण कार्यों हेतु अधिकारियों को निर्देश


श्रीमती मौर्य ने बेतालघाट में बाबा साहेब अम्बेडकर की मूर्ति स्थापना पर समिति की सराहना की व क्षेत्र वासियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि अब क्षेत्रवासियों को बाबा साहेब अम्बेडकर की जयंती पर ओडाबास्कोट नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान के निर्माता डाॅ.अम्बेडकर के आदर्शों को अपने जीवन में हमें अपनाना चाहिए तथा राष्ट्र के विकास में अपना अमूल्य सहयोग भी करना चाहिए।
समिति के अध्यक्ष राहुल अरोरा और सचिव दीप रिखाड़ी ने बताया कि आयुष धाम के अन्तर्गत 256 नाली भूमि पर 39 प्रकार की जड़ी बूटी उगायी जायेंगी। इसकी प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग की व्यवस्था भी यहीं पर की जायेगी। जिससें स्थानीय लोगों के साथ ही महिलाओं को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे। कार्यक्रम में बेतालेश्वर सेवा समिति द्वारा गरीब लोगों को निःशुल्क कम्बल वितरित किये गये। समारोह में उत्तराखण्ड की संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम स्थानीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किये गये। राज्यपाल श्रीमती मार्य ने समिति द्वारा आयोजित इन कार्यक्रमों की मुक्त कण्ठ से सराहना भी की।

यह भी पढ़ें -  तीन दिवसीय प्रशिक्षण आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ आयोजित कार्यक्रम का हुआ समापन

Ad-Pandey-Cyber-Cafe-Nainital
Ad-Jamuna-Memorial
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page