हरेला कुमाऊँ का है अत्यन्त प्राचीन एवं प्रसिद्व त्योहार, डीएम ने दी हरेले की शुभकामनायें

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी – हरेला कुमाऊँ का अत्यन्त प्राचीन एवं प्रसिद्व त्योहार है सावन मास के प्रथम दिन यह त्योहार मनाया जाता है, लोक जीवन मे इस पर्व की विशेष महत्ता है, हरियाली ग्रीष्म ऋतु मंे सूखे व मुरझाये वनस्पति संसार के पुनर्जीवन का प्रतीक है। इस पर्व पर पौधा रोपण का विशेष महत्व है, वृक्ष हमारे जीवन के साथी तथा विकास मे वृक्षों एव हरियाली का विशेष योगदान है, हरियाली को बनाये रखने के लिए हम सब अधिक से अधिक संख्या में पौधा रोपण करें यह बात जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने हरेले मेले के उपलक्ष्य में कही।
जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में जनपद में हरेले के पर्व के उपलक्ष्य पर सभी विकास खण्डों मेें स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा रैली निकाली वहीं उनके द्वारा पौधारोपण भी किया गया। जिलाधिकारी ने हरेले मेले की शुभकामनायें देते हुये कहा कि वृक्षों से हमारा जन्म-जनमान्तर का नाता है इस अटूट रिश्ते को हमे टूटने नहीं देना है, पौधे निस्वार्थ भाव से हमें बहुत कुछ देते है, इसलिए हमें जिन्दगी मे वृक्षों का ऋणी रहना चाहिए। उन्होंने कहा हम जो भी पौंधा लगाते हैं कम से कम एक वर्ष तक उसकी देखभाल करें।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page