पर्यटन सीजन में बेशुमार संख्या में आने वाले पर्यटकों को मिलेगी बेहतर सुविधा व कुमाऊनी संस्कृति से होंगे रूबरू – डीएम सविन बंसल

ख़बर शेयर करें


नैनीताल – ग्रीष्मकालीन पर्यटन सीजन शुरू होने से पहले जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने सरोवर नगरी में व्यवस्थाओं का आंकलन शुरू कर दिया है। इसके साथ ही पर्यटकों का आकर्षण का केन्द्र नैनीझील में पानी की उपलब्धता बनी रहे और झील का जलस्तर भी अच्छा बना रहे इसके लिए जरूरी है कि शहर के नालों से बरसात के मौसम मे आने वाला पानी बिना किसी रूकावट के झील में समाये इसके लिए जिलाधिकारी श्री बंसल नैनीताल शहरों की मरम्मत उसकी साफ सफाई के लिए काफी सजग हैं। श्री बंसल का मानना है कि अगर नालो के जरिये आने वाले पानी में गन्दगी कूड़ा -करक्क्ट झील मे जाता है तो झील प्रदूषित होगी तथा झील के जरिये शहर को आपूर्ति होने वाले पानी की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी। इन सभी तथ्यो को संज्ञान मे रखते हुये जिलाधिकारी द्वारा शहर के नालों तथा कैचमैंट क्षेत्र मे निर्माण कार्यो एवं नालो की निरंतर साफ सफाई की ओर विशेष ध्यान दिया है। नालोें तथा झील की निगरानी के लिए उनके द्वारा शहर मे सीसीटीवी केैमरे भी लगवाये गये है।
पर्यटन सीजन में बेशुमार संख्या में आने वाले पर्यटकों की सुविधाओ के लिए उन्होने पर्यटन विकास विभाग की ओर से शहर में आधुनिकतम तकनीकी से युक्त शौचालय बनवाने का कार्य कराया है। इसके साथ ही पर्यटकों को कुमाऊनी संस्कृति से रूबरू कराये जाने के लिए बहुरंगीय, आकर्षक म्यूरल्स भी शहर के सार्वजनिक स्थानों पर लगवाये गये है। इन रंगबिरंगे म्यूरल्स से शहर की छटा देखते ही बनती है और सरोवर नगरी में आने वाले पर्यटक चहलकदमी के दौरान इन म्यूरल्स को देखकर आन्नदित भी होते हैै। वैसे तो कुदरत ने शहर की खूबसूरती में चारचांद लगाये है वही डीएम के प्रयासों शहर मे लगे म्यूरल्स भी सरोवर नगरी की खूबसूरती मे इजाफा कर रहे है।

यह भी पढ़ें -  मा. राज्यपाल एवं कुलाधिपति कुमाऊँ विश्वविद्यालय बेबी रानी मौर्य ने किया डॉ० सर्वपल्ली राधाकृष्णन सभागार का लोकार्पण एवं डॉ० राजेंद्र प्रसाद विधि संस्थान के मूट कोर्ट का शुभारम्भ


जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने मंगलवार की सुबह तल्लीताल डांठ से मेट्रोपाॅल के पास तक नालों का मौका मुआयना किया। निरीक्षण के दौरान उनके साथ सिंचाई, लोक निर्माण विभाग तथा नगर पालिका के अधिकारी भी मौजूद थे। उन्होंने सिंचाई विभाग द्वारा नालों पर प्रस्तावित एवं किये जा रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। श्री बंसल ने सिंचाई महकमें के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि नैनी झील के संरक्षण एवं संवर्द्धन हेतु झील की धमनियाॅ कहे जाने वाले नालों को संरक्षित एवं सुरक्षित रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि नालों के निर्माण एवं मरम्मत कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाये तथा नालों पर ऐंसे कार्य किये जायें कि नालों के माध्यम से झील मे मलवा एवं गन्दगी न जा सके।
श्री बंसल ने निरीक्षण के दौरान निर्देशित करते हुए कहा कि नालों में बेड रिपेयर (तलहटी मरम्मत) कार्य पत्थर का किया जाये और हर नाले पर कम से कम तीन ट्रेस रेक लगाये जायें। नालों पर टीप बनाने का कार्य निर्माण कार्य के साथ ही कर लिया जाये और नालों एवं कैचपिटों की समय-समय म पर सफाई भी कराते रहें ताकि मलवा व कचरा जमा न होने पाये। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि नालों की सफाई कार्य को भी कार्य योजना में शामिल किया जाये। उन्होंने सख्त लहज़े में कहा कि कार्य संतोषजनक नहीं पाये जाने पर धनराशि अवमुक्त नहीं की जायेगी। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि कार्य समयबद्धता से, गुणवत्ता युक्त एवं निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त होने वाले होने चाहिए। छोटे-छोटे अतिरिक्त निर्माण कार्यों के लिए भी विभिन्न मदों से धनराशि उपलब्ध करायी जायेगी।
श्री बंसल ने निरीक्षण के दौरान नाला नम्बर 16 के पास हो रहे निर्माण कार्य के प्रथम दृष्टया अवैध प्रतीत होने पर जिला विकास प्राधिकरण को निर्माण कार्य सम्बन्धी दस्तावेजों की जाॅच करने तथा निर्माण कार्य अवैध पाया जाने पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण के दौरान महिला द्वारा की गई शिकायत पर तत्काल कार्यवाही करते हुए अधिशासी अधिकारी अशोक वर्मा को निर्देश दिए कि वे शहर की गलियों एवं नालियों की साफ-सफाई रोस्टर बनाकर करना सुनिश्चित करें। श्री बंसल ने होटल नानक के पास नाला नम्बर 16 पर कूड़ेदान स्थान को सही करने के निर्देश भी दिये। निरीक्षण के दौरान नाला नम्बर 16 के पास बने शौचालय के बन्द पाये जाने तथा क्षेत्रीय जनता की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी श्री बंसल ने शौचालय संचालक द्वारा सेवाऐं नहीं देने के आधार पर तत्काल अनुबन्ध निरस्त करने के आदेश दिये।
निरीक्षण के दौरान श्री बंसल ने तल्लीताल टोल टैक्स चुंगी पर आॅटोमेंटिक बेरियर इलैक्ट्राॅनिक टिकटिंग की व्यवस्था न होने की शिकायतें प्राप्त हो रहीं थी। निरीक्षण के दौरान शिकायते सहीं पाये जाने एवं आॅटोमेंटिक बेरियर इलैक्ट्राॅनिक टिकटिंग की व्यवस्था न होने तथा मैनुअल टिकटिंग की व्यवस्था पाये जाने पर जिलाधिकारी के निर्देश पर उप जिलाधिकारी विनोद कुमार तथा अधिशासी अधिकारी अशोक वर्मा द्वारा आवश्यक अभिलेख जब्त कर लिये गये। जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि प्रकरण की गहनता से जाॅच करने के बाद आगे की कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
श्री बंसल ने पर्यटन विकास विभाग द्वारा निर्माण कराये जा रहे शौचालय तथा लगाये गये म्यूरल्स का भी निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, अधीक्षण अभियंता सिंचाई संजय शुक्ला, अधिशासी अभियंता सिंचाई एचएस भारती, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड, पुलिस उपाधीक्षक विजय थापा, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका अशोक वर्मा आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें -  खुश खबरी- रोपवे की सैर आज होगी निशुल्क

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page