कुम्भ मेला 2021- केंद्र सरकार से प्राप्त एसओपी का अनुपालन कराये जाने को लेकर डीएम सी0 रविशंकर ली बैठक

ख़बर शेयर करें

हरिद्वार, जिलाधिकारी हरिद्वार श्री सी0 रविशंकर ने कुम्भ मेला 2021 के सम्बंध में केंद्र सरकार से प्राप्त एसओपी का अनुपालन कराये जाने को लेकर ट्रेवल व्यवसायिओ के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में की। बैठक में विभिन्न बस, ट्रक, आॅटो, रिक्शा युनियनों के पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया।
बैठक से पूर्व 17 फरवरी तक चलने वाले सड़क सुरक्षा माह के दुष्टिगत सभी पदाधिकारियों को लोगों की जान की सुरक्षा की शपथ जिलाधिकारी ने दिलायी। उन्होंने सभी से शपथ को दिल से अपनाने तथा इसके महत्व को समझने का अपील की।
बैठक में उन्होंने कहा कि केंद्र से प्राप्त कुम्भ मेला एसओपी में व्यक्ति की जीवन सुरक्षा को सर्वोपरी मानते हुए सुरक्षित कुम्भ आयोजन के दिशा निर्देश दिये गये हैं। कुम्भ विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है और कोरोना से भी विश्व भर में संकट छाया है। कई देशों में कोरोना के नये स्टेªन भी देखने को मिले हैं, ऐसे में सुरक्षित कुम्भ आयोजन के लिए प्राप्त दिशा निर्देशों का पालन कराने के लिए ट्रेवल व्यवसायिों की भूमिका और सहयोग महतत्वपूर्ण है।
प्रशासनिक स्तर पर अन्य राज्यों से वार्ता कर सूचना दे दी गयी है किन्तु जो भी व्यक्ति आपकी एजेंसी के माध्यम से कुम्भ मेले में आने के लिए बुकिंग कराता है और वाहन का प्रयोग करता है उसकी सुरक्षा के लिए ट्रेवल व्यवसायिओं को अपनी बुकिंग साइटों, कार्यालयों आदि में एसओपी के अनुपालन के लिए यात्रियों को अपनी ओर से जानकारी प्रसारित की जाये। उन्होंने कहा कि टेªवल ऐजेंसीज गाइड लाइन के अनुसार यात्रियों की सुरक्षा व आकस्मिक स्थिति के लिए प्रशासन द्वारा दिये गये लिंक, पोर्टल पर अनिवार्य पंजिकरण, आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट अवश्य अपलोड करने के लिए भी प्रोत्साहित करें, जिससे बाॅर्डर एरिया में गैर पंजिकृत लोगों को वापस लौटना न पड़े। जिला प्रशासन की ओर से जारी कोरोना हेल्प लाइन नम्बरों, पोस्टरों, स्टिकरों, आदि व महत्वपूर्ण एसओपी निर्देशों को भी अपने अपनी बुकिंग साइटों, कार्यालयों, वाहनों आदि पर चस्पा कर जागरूक नागरिक के दायित्व को निर्वहन करंे।
जिलाधिकारी ने ट्रेवल व्यवसायिओं को जिला प्रशासन की ओर से कुम्भ मेला के दौरान बाॅर्डर से लेकर मेला क्षेत्रों में जगह जगह लगाये जाने वाले कोरोना सैम्पलिंग, बाॅर्डर चैकिंग की रणनीति से भी अवगत कराया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य टीमें, बाॅर्डर और शहर के अंदर सैम्पलिंग और टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध रहेगी किन्तु व्यापारियों को भी बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ सकारात्मक व्यवहार अपनाते हुए सहायता करनी होगी किस प्रकार और कैसे जरूरतमंद को प्रशासन और स्वास्थ्य सेवा का लाभ तत्काल दिलाया जाये। सभी कंट्रोल रूम व एम्बुलेंस आदि के नम्बरों की जानकारी व्यवसायी से लेकर वाहन चालकों तक को रखनी होगी जिससे समय पर मदद की जा सके। सभी ड्राइवरों का पुलिस वैरीफेशन करा लें।
व्यवसासियों की ओर से भी जिलाधिकारी को महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए जिनमें पार्किंग सुविध हाइवे के निकट रखने, वैक्सीन की दोनो डोज ले चुके श्रद्धालुओ को आरटीपीसीआर से छूट प्रदान करने, गैर पंजिकृत ट्रेवल ऐजेंसियों की बुकिंग के विरूद्ध अभियान चलाने उचित वाहन किराया सूूची उलब्ध कराने, शीघ्र पार्किंग स्थलों से अवगत कराने, गैर पंजिकृत टूरिस्ट गाइडों से यात्रियों को सुरक्षित रखने में प्रशासन का सहयोग मांगा। जिलाधिकारी ने शासन स्तर और मेला प्रशासन से होने वाले कार्यो को सम्बंधित को प्रेषित करने व जिला प्रशासन से हर सम्भव सहयोग व्यवसायिओं को देने की बात कही।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page