टीएचडीसीआईएल व सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

ख़बर शेयर करें

ऋषिकेश -टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ;टीएचडीसीआईएलद्ध व सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के मध्‍य देहरादून में 02 मार्च 2021 को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए । इस समझौता ज्ञापन के अनुसार टीएचडीसीआईएल भूस्‍खलन संभावित क्षेत्रों के अध्‍ययन के लिए तकनीकी परामर्शदाता के रूप में तकनीकी सेवाएं प्रदान करेगा । टीएचडीसीआईएल उत्तराखंड राज्‍य में विकासाधीन राष्‍ट्रीय राजमार्गों के विस्‍तार के लिए विभिन्‍न शमन उपाय सुझाएगा जिसमें विशेषतया कैलाश मानसरोवर मार्ग सहित चारधाम मार्ग शामिल हैं । टीएचडीसीआईएल की ओर से श्री अतुल जैन ए महाप्रबंधक.डिजाइन ;सिविल एवं एचएमद्ध एवं श्री वी एस खैराए मुख्य अभियंताए क्षेत्रीय कार्यालयए देहरादून ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए ।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लाल तप्पङ फ्लाईओवर का किया निरीक्षण

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड खतरनाक भूस्‍खलन क्षेत्रों के लिए स्‍थरीकरण उपायों से संबंधित जटिल मुद्दों के समाधान के लिए परंपरागत तरीकों के साथ आधुनिक प्रौद्योगिकी का प्रयोग करेगा । टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड श्री माता वैष्‍णों देवी और श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड को भी परामर्शी सेवाएं प्रदान करता आ रहा है । टीएचडीसीआईएल व सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के इस कदम से उत्‍तराखंड में राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर तीर्थ यात्रियों एवं वाहनों का आवागमन सुगम होगा ।

इस समझौता ज्ञापन के हस्ताक्षर समारोह में टीएचडीसीआईएल से डॉण् नीरज कुमार अग्रवालए उप महाप्रबंधक ;सिविल डिजाईनद्धए श्री कैलाश चन्द्र जोशीए वरिष्ठ प्रबंधक ;सिविल डिजाईनद्धए श्री अवकेश कुमारए प्रबंधक ;सिविल डिजाईनद्धए श्री अमित श्याम गुप्ताए प्रबंधक ;सिविल डिजाईनद्ध एवं सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से श्री सौरभ सिंहए अधिशासी अभियंताए श्री कपिल सिंहए अधिशासी अभियंता एवं श्री अंकितए सहायक कार्यकारी अभियंता उपस्थित रहे ।

यह भी पढ़ें -  अन्तर्राष्ट्रीय जैव विवधता दिवस के अवसर पर वेबिनार के माध्यम से किया गया कार्यक्रम का आयोजन

टीएचडीसीआईएल भारत की अग्रणी विद्युत उत्पादन कंपनियों में से एक है । टिहरी बांध एवं एचपीपी;1000मेगावाटद्धए कोटेश्‍वर एचईपी;400 मेगावाटद्धए गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट एवं द्वारका में 63 मेगावाट की पवन विद्युत परियोजनाओंए उत्‍तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकुवां लघु जल विद्युत परियोजना एवं कासरगॉड केरल में 50 मेगावाट की सौर परियोजना के साथ टीएचडीसीआईएल की कुल संस्‍थापित क्षमता 1587 मेगावाट हो गई है ।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page