अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष राज्य दर्जा मंत्री पी सी गोरखा ने स्कूली बच्चों को लेकर प्रधानाचार्य व शिक्षकों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

ख़बर शेयर करें

रूद्रपुर – राजकीय आश्रम पद्धति विघालय रूद्रपुर का निरीक्षण अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष राज्य दर्जा मंत्री श्री पी सी गोरखा ने किया जिसमें उन्होंने समस्त कक्षों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उपाध्यक्ष पी सी गोरखा ने कहा कि बच्चों के खाने के लिए जल्द व्यवस्था करे जिस पर जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि यह फाईल निदेशालय में है वही से टेण्डर के माध्यम से दस दिनों के भीतर यह व्यवस्थित रूप से सूचारू कर दिया जायेगा। इस दौरान उपाध्यक्ष ने प्रधानाचार्य व शिक्षकों से आश्रम पद्धति के व्यवस्था के विषय में जानकारी ली जिसमें समस्त अनुसूचित बच्चो को सरकार द्धारा दिए जाने वाले सभी सुविधाओं को हर बच्चे को मिले इसका खास ध्यान रखेंने के निर्देश दिए। जिसमें प्रधानाचार्य अनुराधा त्रिपाठी ने बताया कि विद्यालय मैं कुल 55 छात्र अध्यनरत हैं जिसमें कक्षा पांच में 10, कक्षा चार में 14, कक्षा तीन में 16, कक्षा दो में 4, कक्षा एक में 11 बच्चे अध्यन करते हैं 60 बच्चो विभागीय प्रक्रिया द्वार चयन किया जाता हैं, 5 बच्चो का कोविड 19 की वजह से चयन नही हो पाया जिसमें जल्द चयन किया जायेगा। उन्होेने विद्यालय को 12वी तक किया जाना जरूरी बताया, उन्होने कहा कि कक्षा 5 उत्तीर्ण करने के बाद छात्रों को बेतालघाट जाना पड़ता हैं जिसमें सितारगंज, किच्छा, रूद्रपुर, दिनेशपुर के दुरस्त क्षेत्रों के बच्चो के लिए काफी दूर होने कि वजह से दूसरे विद्यालय मैं शिक्षा ग्रहण करते हैं। वही उपाध्यक्ष पी सी गोरखा जी ने कहा बाबा साहब डा. भीम राव अम्बेडकर जी ने गरीब निर्धन अनूसूचित जाति के बच्चो को अच्छी शिक्षा मिले इसके लिए संविधान में आश्रम पद्धति विद्यालय का प्रावधान रखा जिसका लाभ हर गरीब अनुसूचित जाति व्यक्ति को उठाना चाहिए। निरीक्षण के दौरान प्रधनाचार्य अनुरूधा त्रिपाठी, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध, ठाकुर सिंह, बालम चन्द्र तथा समस्त शिक्षक मौजूद रहे।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page