मृदुभाषी व्यवहार कुशलता व मोदी फैक्टर ने दिलाई सरिता को ऐतिहासिक जीत

Ad
ख़बर शेयर करें

मृदुभाषी व्यवहार कुशलता व मोदी फैक्टर ने दिलाई सरिता को ऐतिहासिक जीत। भवाली नैनीताल वीआईपी सीट संहिता ने रिकॉर्ड मतों से जीत कर राजनीति के पंडितों को हैरान किया वरन रिकॉर्ड मतों से जीत कर सभी को चौंका दिया मतदान से पहले लोग नैनीताल ज्ञसीट पर कांग्रेस की ज्यादा मजबूत पकड़ को मान रहे थे इसके पीछे यशपाल आर्या का राजनीतिक कद और उनके द्वारा नैनीताल जिले में किए गए विकास कार्य भी थे सरिता का राजनीतिक सफर सरिता का राजनीतिक सफर 2003 से नगर पालिका अध्यक्ष पर विजय और निर्विवाद छवि को देखते हुए 2012 में पार्टी ने विधायक प्रत्याशी बनाया और सरिता ने विजय हासिल कर विधायक के रुप में एक नई शुरुआत की लेकिन 2017 मैं दोबारा विधायक का टिकट मिलने के बाद संजीव आर्य से पराजित होना पड़ा इस लंबी राजनीतिक सफर में सरिता निराश नहीं दिखी नहीं उन्होंने अभी हिम्मत हारी चेहरे पर चिर चिर परिचित मुस्कान शालीनता और व्यवहार कुशलता ने सरिता को राजनीति में एक अलग पहचान बनाने बनाने में मदद की कांग्रेस में समर्पित कार्यकर्ता होने के रूप में पार्टी ने उनकी उपयोगिता और राजनीतिक कद को देखते हुए उन्हें प्रदेश महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया तब उन्होंने प्रदेश भर में महिला कांग्रेस को संगठित किया और महिलाओं को प्रदेश भर में प्रोत्साहित कर राजनीतिक की धारा से जोड़ा वह महिला कांग्रेस के अध्यक्ष के नाते नैनीताल सीट पर प्रबल दावेदार थी लेकिन राजनीति की उठापटक के चलते भारतीय जनता पार्टी से कांग्रेसमें आए संजीव आर्य को टिकट मिलने की प्रबल संभावनाओं को देखते हुए जब उन्हें पूरा विश्वास हो गया प्रियंका गांधी द्वारा दिया गया नारा मैं लड़की हूं लड़ सकती हूं हकीकत में नहीं दिख रहा है तब उन्होंने जनता की सेवा के लिए भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया भारतीय जनता पार्टी भी इस नैनीताल बीजेपी सीट के लिए किसी दमदार राजनीतिक उम्मीदवार को तलाश रही थी उधर भाजपा को भी नैनीताल सीट पर एक दमदार राजनीतिक उम्मीदवार की दरकार थी भारतीय जनता पार्टी ने सरिता पर दाव खेला जो सही सही साबित हुआ राजनीति में हमेशा चेहरे पर मुस्कान सबके लिए सुलभ हो ना वह व्यवहार कुशलता प्रबल भाग्य राजयोग और मोदी मैजिक दें सरिता को इस चुनाव में फिर सफलता दिलाई संजीव आर्य जनता से सीधा संवाद का अभाव अपने कुछ लोगों तक सीमित रहना और अति आत्मविश्वास का सरिता को निश्चित रूप से लाभ मिला सरिता की लोकप्रियता कांग्रेस महिला अध्यक्ष के रूप में किए गए महिलाओं के बीच में काम का लाभ भी सरिताको इस चुनाव भी सफर में बिजयी बनाने में एक महत्वपूर्ण कारण रहा और इस सीट में रिकॉर्ड 7918 मतों से चुनाव जीतकर नैनीताल सीट पर भाजपा का परचम लहरा दिया सरिता की इस जीत पर भा जा पा कार्यकर्ता पदाधिकारी में खुशी की लहर दौड़ गई

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page