हिंदू धर्म में आषाढ़ मास में पढ़ने वाली इस अमावस्या का विशेष महत्व

ख़बर शेयर करें

हल हरिणी अमावस्या पर विशेष। हमारा देश भारतवर्ष कृषि प्रधान देश है। हिंदू धर्म में आषाढ़ मास में पढ़ने वाली इस अमावस्या का बहुत महत्व है। किसानों के लिए यह दिन शुभ दिन है क्योंकि आषाढ़ मास में पढ़ने वाली इस अमावस्या के समय तक वर्षा ऋतु का आरंभ हो जाता है और धरती भी नाम पड़ जाती है। फसल की बुवाई के लिए यह समय उत्तम होता है। इसे आषाढ़ अमावस्या भी कहा जाता है। हल हरेली अमावस्या के दिन हल का पूजन किया जाता है। रोजमर्रा के जीवन में उपयोग में आने वाली वस्तुओं का भी उचित सम्मान करना चाहिए। इस दिन किसान विधि विधान से हर का पूजन करके हरी-भरी फसल बनी रहने के लिए प्रार्थना करते हैं। ताकि घर में अन्न धन की कमी कभी भी महसूस ना हो। इस दिन पितृ निवारण के लिए निम्न उपाय करने से जीवन के समस्त कष्ट दूर होते हैं। एक अमावस्या के दिन भूखे प्राणियों को भोजन कराने का विशेष महत्व है। नंबर दो अमावस्या की रात्रि अगर आप काले कुत्ते को तेल चुपड़ी रोटी खिलाते हैं और उसी समय वह कुत्ता यह रोटी खा लेता है तो इस उपाय से आपके सभी दुश्मन उसी समय से शांत होना शुरू हो जाएंगे। नंबर 3 रुद्राभिषेक पित्र दोष शांति पूजन और सनी उपाय करने से जीवन के सभी कष्ट समाप्त हो जाएंगे। नंबर 4 इस दिन काली चीटियों को शक्कर मिला हुआ आटा खिलाएं ऐसा करने से आपके पाप कर्मों का सही होगा और पुण्य कर्म उदय होंगे। और आपकी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। नंबर 5 अमावस्या के दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद आटे की गोलियां बनाएं। गोलियां बनाते समय भगवान का नाम लेते रहें। इसके बाद समीर किसी तालाब या नदी में जाकर यह आटे की गोलियां मछलियों को खिला दें। इस उपाय से आपके जीवन की अनेक परेशानियों का अंत हो सकता है। नंबर 6 इस दिन कालसर्प दोष निवारण हेतु सुबह स्नान के बाद चांदी से निर्मित नाग नागिन की पूजा करें। सफेद पुष्प के साथ इसे बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। कालसर्प दोष से राहत पाने का यह अचूक उपाय है। नंबर 7 बेरोजगार व्यक्ति अगर अमावस्या की रात यह उपाय करें तो निश्चित ही उसे रोजगार प्राप्त होगा। इसके लिए एक नींबू को साफ करके सुबह से ही अपने घर के मंदिर में रख दें। फिर रात के समय से 7 बार बेरोजगार व्यक्ति के सिर से उतारने और चार बराबर भागों में काट लें। फिर एक चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में इसको फेंक दें। इस उपाय से बेरोजगार व्यक्ति को लाभ की संभावना बनेगी। नंबर 8 जिसे कालसर्प दोष हो उन व्यक्तियों को अमावस्या के दिन किसी अच्छे पंडित से अपने घर में शिव पूजन एवं हवन करवाना चाहिए। नंबर 9 शाम के समाई घर के ईशान कोण में गाय के घी का दीपक जलाएं। बस्ती में रुई के स्थान पर लाल रंग के धागे का उपयोग करें। साथ ही दिए में थोड़ी सी केसर भी डाल दें। यह मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का उपाय है। नंबर 10 अमावस्या वाली रात्रि को पांच लाल फूल और पांच जलते हुए दिए बहती नदी के पानी में छोड़ें। इस उपाय से धन का लाभ प्राप्त होने के प्रबल योग बनेंगे। नंबर 11 हर हरणी अमावस्या के दिन किसान हल पूजन का विधान करें यह सुखदाई होता है। अब सुधि पाठकों को बताना चाहूंगा कि कौन सी राशि वाले किस तरह करें पूजन। मेष राशि वाले शिवजी को गुड चढ़ाएं। वृषभ राशि वाले दही से शिवजी का अभिषेक करें। मिथुन राशि वाले गन्ने के रस से शिव का अभिषेक करें। कर्क राशि के जातक कच्चे दूध और पानी से शिवजी का अभिषेक करें। सिंह राशि के जातक भगवान भोलेनाथ को खीर का भोग लगाएं। कन्या राशि वाले जातक भगवान शंकर को बिल्वपत्र चढ़ाएं। वहीं तुला राशि वाले कच्चे दूध से शिवजी का अभिषेक करें। वृश्चिक राशि वाले शिव जी को गुलाब के फूल चढ़ाएं। धनु राशि के जातक पंचामृत से शिवजी का अभिषेक करें। मकर राशि के लोग शिव जी को नारियल का जल चढ़ाएं। कुंभ राशि के जातक शिव जी का सरसों के तेल से अभिषेक करें तथा अंत में मीन राशि के जातक केसर युक्त दूध से शिवजी का अभिषेक करें। इस बार 9 जुलाई 2021 को हल हरेली अमावस्या है। शुक्रवार 25 गते आषाढ, लेखक पंडित प्रकाश जोशी गेठिया नैनीताल,

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page