उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है – मोहन ढौडियाल

ख़बर शेयर करें

पौड़ी — उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने आज पौड़ी के पदमा पैलेस सभागार में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन ढौडियाल ने अपने साथी संयोजको के साथ किया। वार्ता में मोहन ढौडियाल ने कहा ’उत्तराखंड राज्य को बने 20 साल हो चुके हैं, प्रदेश के विकास का पहिया कई लोगों ने अपने नेतृत्व में लिया लेकिन विकास की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं देखा गया। राज्य कि जनता त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है लेकिन दिल्ली में बैठ कर उत्तराखंड की राजनीति करने वाले के कान तक हमारी बात पहंच ही नही रही है और राष्ट्रीय दलों ने उत्तराखंड को अपने हाल पर छोड़ दिया है।

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी राज्य में लोगों के सामने एक विकल्प के रूप में मौजूद है जो उत्तराखंड के विकास के प्रति प्रतिबद्ध है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी एक सुनहरे भविष्य के साथ उत्तराखंड के लोगों के लिए खड़ी है। आगामी विधानसभा चुनाव में इस बार उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड में नए विकल्प के रूप में आई है। जिसका नेतृत्व उत्तराखंड की जनता को खुद अपने हाथों में लेकर करना है। अगर हमें अपने क्षेत्र के विकास में भागीदार बनना है और अपने प्रदेश का विकास करना है तो हमें अपने प्रदेश की क्षेत्रीय पार्टी को नेतृत्व करने का मौका देना चाहिए।

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी अपने अध्यक्ष माननीय श्री संजय कुण्डलिया जी के नेतृत्व में राज्य के लोगों को सामने एक राजनीतिक विकल्प देने जा रहा है, जो समग्र उत्तराखंड को एक विकसित राज्य बनाने के लिए संकल्पित है और जो बहुआयामी विकास के लिए दृढ़ निश्चय ले चुके है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी आने वाले चुनाव में प्रदेश के 70 के 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और विजई होंगे ।

वार्ता में उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के अन्य संयोजको ने कहा ’हमारे पौड़ी कि स्थिति ऐसी है कि शिक्षा, स्वास्थ्य की व्यवस्था निम्न स्तर की हो चुकि है। लोगो को साधारण विमारी के इलाज के लिए के लिए देहरादून जाना पड़ता है अगर किसी को कोई गंभिर विमारी या आपातकालिन व्यवस्था कि जरूरत हो तो भगवान ही उसे बचाते है। गत 20 वर्षों से विकास की मनगढ़ंत कहानियां सुनाते सुनाते राष्ट्रीय पार्टी ने उत्तराखंड को गर्त में धकेल दिया है। अब वक्त आ गया है कि अपने उत्तराखंड के युवाओं को आगे बढ़कर राजनीति में भागीदारी सुनिश्चित करनी पड़ेगी और अपने राज्य और अपने क्षेत्र के विकास के लिए आगे बढ़ना होगा। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी इसी दिशा में अपना कार्य कर रही है और राज्य के सभी वर्ग के युवाओं को साथ लेकर राजनीति में आगे बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें -  अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जड़ी बूटी कृषिकरण हेतु चलाया गया जागरूकता कार्यक्रम 

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है और वह यह सुनिश्चित कर चुकी है कि अगर उत्तराखंड को विकास की ओर ले जाना है तो हमें युवा नेतृत्व को सामने रखना होगा। इसीलिए तमाम युवा वर्ग उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी से जुड़ कर उत्तराखंड के आने वाले भविष्य को सुनहरे अक्षरों में लिखना चाहते है।

उत्तराखंड का विकास अब सिर्फ उत्तराखंड के लागो द्वारा ही संभव है जिसमें स्थानिय युवांओ को समाने आकर अपनी भुमिका निभानी होगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि प्रदेश का हर क्षेत्र विकास कि दिशा में आगे बढे़। बड़े बड़े राजनीतिक दल दिल्ली से सरकार चलाने की कोशिश करते हैं और उत्तराखंड के भविष्य का निर्णय लेते हैं वह अभी तक यह नहीं समझ सके हैं कि उत्तराखंड के विकास का मॉडल किस तरह का होगा और क्या होगा। वह यह भी नहीं जानते कि उत्तराखंड के विकास का रोड मैप किस तरह से बनाया जाए बस हवाबाजी में सरकार चल रही है और अनाप-शनाप निर्णय लेते जा रहे हैं। जनता पलायन और बेरोजगारी से जूझ रही है तत्कालीन सरकार युवाओं को अंधेरे में डुबो रखी है एवं भविष्य के लिए कोई रोडमैप नहीं दिया है

यह भी पढ़ें -  सीएम को सौंपा ई-मंत्रीमंडल के लिए उत्तराखण्ड को मिला अवार्ड आफ एक्सीलेंस

उत्तराखंड सरकार ने अब प्रदेश के लोगों को दमन करना शुरू कर दिया है लगभग 22000 परिवार अब ऐसे संकट से घिरना जा रहे हैं जिनके सामने रोजी-रोटी का आभाव हो सकता है। राज्य में उपनल कर्मियों के साथ जो दुर्व्यवहार और सोतेलापन सरकार ने अख्तियार किया है वह बहुत ही निंदनीय है। अगर एक दफ्तर में 2 लोग एक ही काम कर रहे हो तो उन्हें एक समान वेतन मिलना चाहिए कि नहीं चाहिए इसका जवाब हर कोई दे सकता है। नियमित कर्मचारियों के वेतन आसमान पर हैं और वही उपनल कर्मियों के वेतन बेहद कम है। समान कार्य के लिए समान वेतन होना एक जायज मांग है। कई विभागों में ऐसा देखा गया है कि उपनल कर्मियों को बाहर का रास्ता दिखाने की कोशिश कर रही सरकार उसी पद पर अब नियमित कर्मचारी नियुक्त करने जा रही है । यह कैसी नीती राज्य सरकार की है और कितनी दुष्ट तरीके से 22 हजार परिवारों को रोजी रोटी छीनने का काम राज्य सरकार करने जा रही है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी इसकी निंदा करता है और वह उपनल कर्मियों के साथ कंधे से कंधा मिला कर साथ खड़ा रहेगा जब तक उनको इंसाफ मिल नहीं जाती!

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के संयोजको ने यह भी कहा कि ’उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी सामाजिक और राजनीतिक दोनों कार्य करने में विश्वास रखती है और प्रदेश की जनता के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहती है। हम अपने राज्य की जनता से निवेदन करते है कि आप अधिक से अधिक संख्या में उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी की सदस्याता लें और प्रदेश के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करे ’।

प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के मोहन ढौंडियाल (प्रदेश संयोजक), मनोज सिंह नेगी (पार्टी प्रवक्ता), डॉ संदीप ढौंडियाल (चैबट्टाखाल संयोजक), पुर्वसैनिक चन्द्रशेखर नेगी (चैबट्टाखाल संयोजक), अजय सिंह नेगी (पौड़ी संयोजक) व पार्टी के अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page