होम लोन लेने में क्यों महत्वपूर्ण है क्रेडिट स्कोर-नीरज धवन-मैनेजिंग डायरेक्टर,एक्सपीरियन इंडिया

ख़बर शेयर करें

क्रेडिट स्कोर एक 3 डिजिट नंबर है जो दर्शाता है कि किसी उपभोक्ता के कर्ज के लिए आवेदन को स्वीकार किए जाने की कितनी संभावना है। किसी को पैसा उधार देने के लिए सहमत होने से पहले कर्जदाता, उधारकर्ता की कर्ज चुका देने की क्षमता का मूल्यांकन करना चाहेगा। ऐसा करने के लिए, कर्जदाता क्रेडिट स्कोर देखते हैं, जो एक्सपीरियन से क्रेडिट ब्यूरो द्वारा प्रदान किया जाता है। क्रेडिट स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। 900 उच्चतम स्कोर है। क्रेडिट स्कोर जितना अधिक होगा, लेंडर्स के कर्ज को मंजूरी देने की संभावना उतनी ही अधिक होगी। जिन उपभोक्ताओं का क्रेडिट स्कोर अधिक होता है, उनके डिफॉल्टर होने की संभावना कम होती है और इस तरह लेंडर्स के लिए पैसा खोने का जोखिम कम होता है; कम रिस्क होने से ब्याज की दरें कम होने की उम्मीद होती है। ओवरटाइम डिसीप्लीन व समय पर इन लोंस की रीपेमेंट, क्रेडिट विंटेज और स्कोर तैयार करेगा और उपभोक्ता को बड़ी जरूरतों और बड़ी लोन अमाउंट का कर्ज लेने के काबिल बनाएगा। क्रेडिट स्कोर होने से उन्हें बड़े बैंकों और वित्तीय संस्थानों से लोन लेने में मदद मिलेगी।

आपके क्रेडिट स्कोर की गणना आपके पेमेंट हिस्ट्री, क्रेडिट के उपयोग, क्रेडिट एज, क्रेडिट टाइप, टोटल क्रेडिट अकाउंट्स इत्यादि जैसे फैक्टर्स को ध्यान में रखकर की जाती है। लोन के लिए आवेदन करने से पहले आपको खुद से अपने क्रेडिट स्कोर की जांच करने की सलाह दी जाती है। आप एक्सपीरियन वेबसाइट पर अपना क्रेडिट स्कोर फ्री में देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें -  देवभूमि उत्तराखंड में भगवान भोले शंकर का ऐसा शिवलिंग है जहां प्राकृतिक जलधारा गिरती है स्वयं

अच्छा क्रेडिट स्कोर होने की पांच टॉप वजहें जिससे होम लोन लेने में आसानी होती हैः

750 से अधिक का क्रेडिट स्कोर आवेदक को अच्छी होम लोन स्कीम्स के लिए पात्र बनाता है। अच्छा स्कोर आपको सबसे अच्छे बैंकों से लोन लेने में मददगार साबित होगा। कर्जदाता उधार की पात्रता का मूल्यांकन करेंगे; एक खराब क्रेडिट/रीपेमेंट हिस्ट्री स्कोर को कम कर देगा और उधारकर्ता अच्छी होम लोन स्कीम्स के लिए पात्र नहीं होगा।

1-लोन लेने के लिए पात्र बनाता हैः 750 या उससे अधिक के क्रेडिट स्कोर को आमतौर पर अच्छा स्कोर माना जाता है। कर्जदाता बेहतर क्रेडिट स्कोर वाले कंज्यूमर्स को आकर्षक ऑफर देते हैं। इससे न सिर्फ लोन मिलना आसान हो जाता है, बल्कि ब्याज दरों व प्रोसेसिंग फीस में डिस्काउंट भी मिलता है

यह भी पढ़ें -  आईजी अजय रौतेला ने कुमाऊं मंडल के पुलिस अधिकारियों के साथ ली क्राइम की बैठक

2-कम ब्याज दरः अच्छा क्रेडिट स्कोर सस्ती ब्याज दरों पर लोन मिलने में मददगार हो सकता है।

3-लंबी अवधि के लिए लोनः आपका स्कोर जितना बेहतर होगा, लंबी अवधि के लिए अधिक राशि का लोन मिलने की संभावना उतनी ही अधिक होगी

4-आवेदन को जल्द मंजूरीः कर्जदाता के लिए हाई क्रेडिट स्कोर वाले आवेदक के एप्लीकेशन फॉर्म को जल्द प्रोसेस करना आसान होता है ऐसा इसलिए है क्योंकि धनवापसी की विश्वसनीयता पहले ही सत्यापित की जा चुकी है।

5-लोन प्रोसेसिंग फीस समेत अन्य चार्जेज में छूटः एक बार जब कर्जदाता अच्छे क्रेडिट स्कोर के आधार पर लोन उपलब्ध कराने में रुचि रखता है, तो उधारकर्ता उससे अच्छा निगोशिएशन कर सकता है और वह लोन प्रोसेसिंग फीस समेत अन्य चार्जेज में डिस्काउंट मांग सकता है।

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे- विकास कुमार-8057409636

Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page