हरिश्चंद्र को संगीत अध्यापक प्रतिभा सम्मान हेतु किया चयनित

ख़बर शेयर करें

राजकीय इंटर कॉलेज गुनियालेख धारी नैनीताल के संस्कृत विषय के प्रवक्ता हरिश्चंद्र पाण्डे का चयन एससीईआरटी के द्वारा आयोजित संगीत अध्यापक प्रतिभा प्रतियोगिता के अंतर्गत लोक संगीत विधा के गायन प्रतियोगिता में जनपद स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।
विद्यालय के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रभारी के रूप में उनके द्वारा विगत 3 वर्षों से लगातार बच्चों को विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कराया जा रहा है जिसमें संस्कृत प्रतियोगिता एवं कला उत्सव प्रतियोगिता आदि शामिल है।
बहुमुखी प्रतिभा के धनी हरीश चंद्र पाण्डे के द्वारा अपने पूर्व विद्यालय राजकीय इंटर कॉलेज छोई तथा वर्तमान विद्यालय राजकीय इंटर कॉलेज गुनियालेख के लिए विद्यालय कुलगीत भी तैयार किया गया है । उनके द्वारा तैयार किए गए कुल गीत के बोल हैं, ऋषि मुनि की तपोभूमि यह अनुपम गुनियालेख में।
हरिश्चंद्र के द्वारा लोक संस्कृति के संरक्षण के क्षेत्र में विगत 20 वर्षों से लगातार सक्रियता के साथ कार्य किया जा रहा है , जिसके अंतर्गत उनके द्वारा लोक संस्कृति की सेवा करते हुए दो ऑडियो कैसेट तथा एक वीडियो कैसेट भी रिलीज किया है । उनके द्वारा साथ माया उपाध्याय तथा कल्पना चौहान जैसे प्रतिष्ठित लोकगीतकारों के द्वारा स्वर दिए गए हैं । उनके द्वारा तैयार वीडियो एल्बम चंपावतै की चम्पा को जनता के द्वारा काफी सराहना प्रदान की गयी थी।

Matrix Hospital

विद्यालय के प्रधानाचार्य गौरी शंकर काण्डपाल ने बताया कि, हरीश चन्द्र पाण्डे के द्वारा विद्यालय प्रार्थना सभा का संगीतमय संचालन किया जाता रहा है। उनके द्वारा तैयार विद्यालय में प्रार्थना हर पात पात हर डाली भी बच्चों के बीच में काफी लोकप्रिय है, जिसे उनके द्वारा साप्ताहिक प्रार्थना कार्यक्रम का हिस्सा बनाया गया है।

यह भी पढ़ें -  फायरलाईन की मॉनिटरिंग हेतु किया जाय ड्रोन सर्वे - सीएम तीरथ सिंह रावत

हरिश्चंद्र पाण्डे की इस उपलब्धि के लिए खंड शिक्षा अधिकारी धारी चतुष्पति अवस्थी के अतिरिक्त विद्यालय के प्रधानाचार्य एवम् समस्त शिक्षकों के द्वारा प्रसन्नता व्यक्त की गई है ।

Ad-Pandey-Cyber-Cafe-Nainital
Ad-Jamuna-Memorial
Pandey Travels Nainital
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page