कुम्भ मेला-2021 की व्यवस्थाओं के लेकर अपर मेलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक

ख़बर शेयर करें

हरिद्वार: श्री रामजी शरण शर्मा, अपर मेलाधिकारी की अध्यक्षता में आज मेला नियंत्रण भवन (सी0सी0आर0) में कुम्भ मेला-2021 की व्यवस्थाओं के दृष्टिगत एक बैठक आयोजित हुई।
बैठक के दौरान श्री रामजी शरण शर्मा ने आयुष विभाग के अधिकारियों से दवाइयों के स्टाॅक, दवाइयों की खरीददारी के लिये बजट की व्यवस्था, चिकित्सा शिविर कहां-कहां लगाये जायेंगे, पंचकर्म की क्या व्यवस्था होगी आदि के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पूरे देश को यह भरोसा है कि सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उत्पाद उत्तराखण्ड, खासतौर पर हरिद्वार में मिलेगा। इस पर आयुष विभाग के अधिकारियों ने अपर मेलाधिकारी को बताया कि हमारे पास दवाइयां पर्याप्त मात्रा मंें हैं तथा कुम्भ में चिकित्सा शिविर स्थापित करने के लिये चार जगह भूमि चिह्नित की जा चुकी है।
अपर मेलाधिकारी को उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने बताया कि हम शिविर के माध्यम से कुम्भ में दवाइयों के वितरण के साथ-साथ जड़ी-बूटियों तथा योगा  का प्रदर्शन करेंगे, जिसके लिये प्रचार-प्रसार की विशेष व्यवस्था होगी। इस पर अपर मेलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे  एक योजना तैयार कर यथाशीघ्र प्रस्तुत करें।
श्री रामजी शरण शर्मा ने बैठक में संस्कृति विभाग के अधिकारियों से कुम्भ मेले में सांस्कृतिक दलों का क्या योगदान रहेगा, कुम्भ के शुभारम्भ एवं सम्पन्नता के सुअवसर पर आप कौन-कौन से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे, मंच का क्या आकार होगा, कितने दर्शकों के बैठने की व्यवस्था होगी, बजट की क्या व्यवस्था है आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। इस पर संस्कृति विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हमें कुछ और बजट की आवश्यकता पड़ेगी। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि संस्कृति विभाग को प्रदर्शनी के लिये जगह की आवश्यकता होगी। इसके अलावा उन्होंने बताया कि 24 व 25 अप्रैल को ऋषिकेश व हरिद्वार में देव डोलियों का शुभागमन होगा, जिसके लिये भी व्यवस्था करनी होगी। इस पर अपर मेलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे भारत सरकार द्वारा महाकुम्भ के लिये जारी एस0ओ0पी0 का पालन करते हुये सारी व्यवस्थायें करना सुनिश्चित करें।
अपर मेलाधिकारी ने पेयजल निगम के अधिकारियों से कुम्भ मेला क्षेत्र के सभी सेक्टरों में पानी की पाइप लाइन बिछाने के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर पेयजल निगम के अधिकारियों ने बताया कि सभी सेक्टरों में मानकों के अनुसार पाइप लाइन बिछा दी गयी है तथा पानी  सप्लाई करने में कोई दिक्कत नहीं है। इस पर अपर मेलाधिकारी ने निर्देशित किया कि लीकेज का ध्यान रखें एवं जहां-जहां पीने के पानी के नल स्थापित करेंगे, वहां-वहां यह पानी पीने के लिये है, का प्रतीक जरूर प्रदर्शित करें तथा हाथ धोने के लिये कोविड-19 का ध्यान रखते हुये फुट आॅपरेटड व्यवस्था सुनिश्चित करें तथा पावन धाम के निकट बन रहे 150 बेड के जनरल हाॅस्पिटल को यथाशीघ्र पानी का कनेक्शन देने के निर्देश दिये।
श्री रामजी शरण शर्मा ने बैठक में परिवहन निगम के अधिकारियों से कुम्भ मेले की दृष्टि से परिवहन की व्यवस्था, मुख्य स्नानों पर्वो व सामान्य दिनों में बसों के संचालन की क्या व्यवस्था है तथा जनपद के विभिन्न स्थानों में बनाये गये अस्थाई बस अड्डों आदि के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस सम्बन्ध में चर्चा करते हुये अपर मेलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे बसों की व्यवस्था, पार्किंग आदि प्रकरणों पर अन्तर्राज्यीय आपसी तालमेल करना सुनिश्चित करने के साथ ही अवैध वाहनों के संचालन को कड़ाई से रोकने के लिये  टांसपोर्टरों से भी संवाद स्थापित करना सुनिश्चत करें।
इस अवसर संस्कृति,  कुल सचिव, उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जिला आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी, सम्भागीय परिवहन अधिकारी, जल निगम, जल संस्थान, पुलिस सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page