कुलपति प्रो. नरेंद्र सिंह भंडारी वाइस चांसलर ऑफ द ईयर-2022 अवार्ड से हुए सम्मानित

Ad
ख़बर शेयर करें

दिव्य हिमगिरि द्वारा पांचवे फेलिसिशन सेरेमनी, शिक्षक दिवस के अवसर पर वाईस चांसलर ऑफ द ईयर-2022 अवार्ड से सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो नरेंद्र सिंह भंडारी को नवाजा गया है। यह सम्मान हिमालयी क्षेत्र में नव सृजित सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय को स्थापित करने और शिक्षा क्षेत्र में किये जा रहे बेहतर प्रयासों, प्रो नरेंद्र सिंह भंडारी द्वारा दिए गए योगदानों को लेकर दिया गया है।
शिक्षक दिवस के अवसर पर उत्तराखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी, देहरादून में श्री पुष्कर सिंह धामी, माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड द्वारा दिया गया है। कुलपति प्रो भंडारी को सम्मान मिलने से विश्वविद्यालय में हर्ष का माहौल है।
स्क्रीनिंग और सेलेक्शन कमेटी के अध्यक्ष ओंकार सिंह (कुलपति,उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय) तथा सदस्यों के रूप में श्री एन रवि शंकर, आईएएस (चांसलर, डी आई टी यू) , प्रो.हेम चंद्र पांडे (कुलपति, हेमवती नंदन बहुगुणा मेडिकल विश्वविद्यालय), प्रो.अजित कर्नाटक (कुलपति, यूयूएचएफ), डॉ.गीता खन्ना (अध्यक्ष, यू एसपीसीआर), प्रो. संदीप शर्मा (निदेशक, उच्च शिक्षा),प्रो. अनीता रावत (निदेशक, यूसर्क),डॉ.डी.पी.उनियाल (जॉइंट डायरेक्टर, यूकॉस्ट), मीनाक्षी जैन (डिप्टी कमिश्नर, केवीएस, देहरादून), इंजीनिअर जे.एम.नेगी (जॉइंट डायरेक्टर, आईटीआईस, उत्तराखंड), डॉ.प्रेम कश्यप (अध्यक्ष, पी.पी.एस.ए.) और सदस्य सचिव के रूप में इंजीनियर आर. पी. गुप्ता (एडिशनल डायरेक्टर,यूबीटीई एवं रजिस्ट्रार, यूटीयू), संयोजक श्री डी.एस. मान (अध्यक्ष, डीआईएस), संयोजक प्रो.अमित अग्रवाल (डायरेक्टर एपीजेएके इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, टनकपुर),कुंवर राज अस्थाना (एडिटर इन चीफ दिव्य हिमगिरि एवं अध्यक्ष, एसआरएडीएसटीए) रहे। उक्त सेलेक्शन कमेटी ने राज्य स्तर पर उच्च शिक्षा में ऑप्ना योगदान देने के लिए वाईस चांसलर ऑफ द ईयर-2022 अवार्ड से सम्मानित किया गया।

Ad
Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page