अमृता स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी ने लाइफ साइंसेज में भारत में अपनी तरह का पहला डुअल डिग्री प्रोग्राम शुरू करने के लिए एरिजोना विश्वविद्यालय के साथ की साझेदारी

ख़बर शेयर करें

अमृता स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी ने लाइफ साइंसेज में भारत में अपनी तरह का पहला डुअल डिग्री प्रोग्राम शुरू करने के लिए एरिजोना विश्वविद्यालय के साथ साझेदारी की

  • यह साझेदारी नामांकित छात्रों को दो डिग्री प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगी – अमृता विश्व विद्यापीठम से बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी या बायोइनफॉरमैटिक्स में एम.एससी. और एरिजोना विश्वविद्यालय से सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर मेडिसीन में एमएस।
  • छात्र एरिजोना विश्वविद्यालय में प्रयोगशालाओं में अनुसंधान करने में भी सक्षम होंगे।

देहरादून-01 जुलाई, 2021- अमृता विश्व विद्यापीठम विश्वविद्यालय के अमृता स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी ने एक अनोखे कदम के तहत एरिजोना विश्वविद्यालय में सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर मेडिसीन विभाग के साथ डुअल डिग्री साझेदारी की है।

अमृता स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के प्रोफेसर और फैकल्टी ऑफ साइंस के डीन डॉ. बिपिन नायर के अनुसार, यह अकादमिक श्रेष्ठता और अनुसंधान उत्कृष्टता दोनों के मामले में दो विश्वविद्यालयों की दो अच्छी तरह से स्थापित इकाइयों की ताकत का एक रणनीतिक विलय है, जो इच्छुक छात्रों को एरिजोना विश्वविद्यालय में प्रसिद्ध और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त बायोमेडिकल साइंसेज फैकल्टी की विशेषज्ञता हासिल करने का उत्कृष्ट अवसर प्रदान करता है, साथ ही साथ अमृता स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी में बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी और बायोइनफॉरमैटिक्स में मास्टर प्रोग्रामों का समृद्ध अनुभव हासिल करने में सक्षम बनाता है। इसके अलावा छात्रों को दो डिग्री प्राप्त करने का अनूठा अवसर दिया जा रहा है – अमृता विश्व विद्यापीठम से बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी या बायोइनफॉरमैटिक्स में एम.एससी. और सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर मेडिसिन में एमएस। इस शानदार डुअल डिग्री प्रोग्राम के लिए नामांकन करने वाले छात्रों को एरिजोना विश्वविद्यालय में सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर मेडिसिन विभाग द्वारा पेश किए जाने वाले अपनी तरह के मॉड्यूलर पाठ्यक्रमों के इस अभिनव दृष्टिकोण से काफी फायदा होगा और साथ ही एरिजोना विश्वविद्यालय की प्रयोगशालाओं के भीतर अनुसंधान करने का भी अवसर मिलेगा।

यह भी पढ़ें -  नेता प्रतिपक्ष, क्षेत्रीय विधायक स्व0 डा0 इन्दिरा हृदयेश सोमवार को पंचतत्व मे हुई विलीन

एरिजोना विश्वविद्यालय के सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर मेडिसिन विभाग के प्रमुख और ग्लोबल हेल्थ साइंसेज के असिस्टेंट वाइस प्रोवोस्ट कैरोल सी ग्रेगोरियो (पीएचडी) ने कार्यक्रम के बारे में कहा- ष्हम भारत में शीर्ष अनुसंधान संस्थानों में से एक दृ अमृता विश्व विद्यापीठम विश्वविद्यालय के साथ इस डुअल डिग्री साझेदारी पर सम्मानित महसूस करते हैं। यह अवसर हमें अपने प्रसिद्ध और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त फैकल्टी की विशेषज्ञता का लाभ उठाकर अपने स्वयं के विश्वविद्यालय में सीमाओं को आगे बढ़ाने की अनुमति देता है। यह रोमांचक अवसर अमेरिका के भीतर और दुनिया भर में एरिजोना स्वास्थ्य विज्ञान शिक्षा तक पहुंच का विस्तार करने के हमारे बड़े मिशन का हिस्सा है।ष्

यह भी पढ़ें -  बैंक ऑफ बड़ौदा ने फिटनेस आइकॉन मिलिंद सोमण के साथ ’ग्रीन राइड - एक पहल स्वच्छ हवा की ओर ’ की शानदार सफलता मनाई

अमृता विश्व विद्यापीठम के अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम की डीन डॉ. मनीषा रमेश ने कहा कि अमृता को 2020 एनआईआरएफ रैंकिंग में भारत में चैथा सर्वश्रेष्ठ समग्र विश्वविद्यालय का स्थान दिया गया था। उत्कृष्टता के लिए हमारी खोज को जारी रखते हुए, एरिजोना विश्वविद्यालय के साथ यह डुअल डिग्री व्यवस्था यह सुनिश्चित करने के लिए एक रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण कदम है कि हमारे छात्रों को एक उज्ज्वल भविष्य के लिए एक कदम के रूप में सर्वोत्तम संभव प्रशिक्षण प्राप्त हो।

Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 9410965622 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page