स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने मैक्स अस्पताल में नए मेडिकल आईसीयू और रेडियल लाउंज का किया उद्घाटन

ख़बर शेयर करें

स्वास्थ्य मंत्री श्री. धन सिंह रावत ने मैक्स अस्पताल में नए मेडिकल आईसीयू और रेडियल लाउंज का किया उद्घाटन

· 10 बिस्तरों वाले अतिरिक्त आईसीयू के जुड़ने से अस्पताल में अब 91 क्रिटिकल केयर बेड हो गए है,

· अस्पताल में मरीजों के लिए सर्व सुविधायुक्त एक नए रेडियल लाउंज की भी शुरुआत कि गई है,ताकी मरीजों को इलाज के दौरान हस्पताल में भर्ती होने का अहसास कम से कम हो,

देहरादून, 11 सितंबर, 2021: उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री श्री. धन सिंह रावत ने आज गंभीर रूप से बीमार रोगियों के लिए मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में नए मेडिकल आईसीयू और हृदय रोग से ग्रसित गंभिर मरीजों के लिए रेडियल एंजियोग्राफी लाउंज का उद्घाटन किया। क्रटिक्ल केयर की जरूरत वाले मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तोरी को देखते हुए मैक्स अस्पताल ने आईसीयू बेड का विस्तार करने का फैसला किया। इस नए आईसीयू में 10 क्रिटिकल केयर बेड है, इस नए आईसीयू के जुड़ने से अस्पताल में क्रिटिकल केयर बेड की संख्या बढ़कर 91 हो गई है। ये सभी बेड आईसीयू वेंटिलेटर, मॉनिटर और सभी आवश्यक चिकित्सा आपूर्ति से लैस है, इन बेड के जुड़ने के बाद से अस्पताल में बुनियादी ढ़ाचे में बहुत सुधार हुआ हैं।

यह भी पढ़ें -  कोविड के बीच क्या है मानसून आपदा

इस अवसर पर बोलते हुए, डॉ संदीप सिंह तंवर, वाइस प्रेसिडेंट- ऑपरेशन्स एंड यूनिट हेड, मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, देहरादून ने कहा, “अस्पताल ने क्रिटिकल केयर रोगियों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए एक अतिरिक्त एमआईसीयू शुरु किया है। यह हस्पताल प्रबंधन के द्वारा मरीजों के देखभाल के लिए उठाये गया एक महत्वपूर्ण कदम है, समय पर नए आईसीय़ू बेड शुरु करने से क्रटिकल मरीजों को बेहतर देखभाल मिल सकेगी और व अपना बेहतर इलाज करा सकेंगे। कोरोना वायरस के कारण कई मरीजों को क्रिटिकल केयर की जरूरत थी, लेकिन आईसीयू बेड की अनुपलब्धता के कारण हमे कई गंभीर रोगीयों को वापस लौटाना पड़ा। देहरादून में मौजूद हमारा हृदय विज्ञान संस्थान रेडियल मार्गके माध्यम से एंजियोग्राफ प्रक्रिया करने वाला पूरें राज्य का एक-मात्र अस्पताल है, हमने हृदय रोगियों के परेशानियों को ध्यान में रखते हुए, इस अस्पताल में एक समर्पित रेडियल एंजियो लाउंज भी शुरु किया है। हृदय से संबंधित यह प्रक्रिया आम तौर पर दिन में पूरी कर ली जाती है, दिनभर में इलाज की इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद और मरीज को उसी दिन छुट्टी दे दी जाती है।"

मैक्स अस्पताल ने कोविड के दूसरे लहर के समय संकट से जूझ रहे देश में हजारों कीमती जिंदगियों को बचाने में दिन-रात एक कर दिया था। मैक्स अस्पताल के द्वारा गंभीर से गंभीर मरीजों को भी ठीक करने की कोशीश की गई। अस्पताल के द्वारा आपात स्थिति में गंभीर मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की भऱपूर कोशीश की गई थी।

यह भी पढ़ें -  पेटीएम पेमेंट्स बैंक के ग्राहक अब कर सकते हैं पेटीएम यूपीआइ हैंडल के द्वारा आसानी से निवेश

एक सर्वेक्षण से पता चला है कि उत्तराखंड में सबसे ज्यादा मृत्यु ‘हृदय रोगों’ (सीवीडी) के कारण होती है। हमारे इस अस्पताल में एक ही छत के नीचे हृदय से संबंधी सभी बीमारीयों के इलाज के साथ-साथ, बड़ी संख्या में एंजियोग्राफी और एंजियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक अंजाम दिया जाता है। देहरादून में स्थित हमारे इस अस्पताल में पूरें प्रदेश का सबसे व्यापक और अत्याधुनिक हृदय विभाग है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 वॉट्स्ऐप पर समाचार ग्रुप से जुड़ें

👉 फ़ेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज लाइक-फॉलो करें

👉 हमारे मोबाइल न० 7017197436 को अपने ग्रुप में जोड़ कर आप भी पा सकते है ताज़ा खबरों का लाभ

👉 विज्ञापन लगवाने के लिए संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page