खास खबर- सर्वप्रथम प्रदेश में नैनीताल जनपद को योजना हेेतु शासन से अवमुक्त हुई 191 लाख की धनराशि

ख़बर शेयर करें

नैनीताल– मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिह रावत की महत्वाकांक्षी एवं ड्रीम प्रोजेक्ट 13 डिस्ट्रिक 13 डेस्टिनेशन योजना को जनपद मे शीघ्र लगेेंगे पंख। प्रदेश मे सर्वप्रथम नैनीताल जनपद को योजना हेेतु 191 लाख की धनराशि शासन से अवमुक्त। जिलाधिकारी श्री सविन बंसल के सार्थक प्रयासों व तत्परता से 13 डिस्ट्रिक 13 डैस्टिनेशन योजना के अन्तर्गत जनपद नैनीताल मे चिन्हित मुक्तेश्वर सर्किट मे हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित करने हेतु प्रदेश मे सर्वप्रथम जनपद नैनीताल को योजना हेतु धनराशि अवमुक्त हुई।


जिलाधिकारी श्री बंसल ने बताया कि 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टीनेशन के अन्तर्गत जनपद के दूरस्थ क्षेत्र वाले धार्मिक, सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक सौन्दर्ययुक्त वादियों का विकास करना है। श्री बंसल ने बताया कि 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टीनेशन में जनपद के मुक्तेश्वर को शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि पर्यटक नैनीताल के साथ ही जनपद मुख्याल के दूरस्थ मुक्तेश्वर क्षेत्र की प्राकृतिक सुन्दरता के साथ ही आसानी से हिमालय की बर्फीली वादियों के दर्शन कर सकेंगे। नये पर्यटक डेस्टिनेशन विकसित होने से क्षेत्रीय लोगों को रोजगार मिलेगा साथ ही वहां की आधारभूत सुविधाओं जैसे सडक, पानी, बिजली, स्वास्थ्य सुविधाओ मे भी इजाफा होगा।


जनपद नैनीताल प्रथम जनपद है जिसने प्रोपर प्लानिंग करते हुए प्रोजेक्ट सबसे पहले तैयार करके प्रस्तुत किया था। प्रोपर प्लांनिंग से तैयार डीपीआर के परिणाम स्वरूप 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टीनेशन योजना के अन्तर्गत जनपद नैनीताल पहला जिला बन गया है जिसे योजना के अन्तर्गत शासन द्वारा धनराशि आवंटित की गयी है।

यह भी पढ़ें -  मोरी में पुल के लिए धनराशि मंजूर-सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत


13 डिस्ट्रिक 13 डेस्टिनेशन योजना मुख्यमंत्री श्री रावत की महत्वाकांक्षी योजना है जिसके अन्तर्गत पुराने पर्यटक स्थलों की क्षमता वृद्वि करने हेतु पुराने पर्यटक स्थलो से लगे पर्यटन स्थल जहां सौन्दर्य की दृष्टि से पर्यटन की सम्भावनायें है को विकसित करना है। नये पर्यटक डेस्टिनेशन विकसित होने से क्षेत्रीय लोगों को रोजगार मिलेगा साथ ही वहां की आधारभूत सुविधाओं जैसे सडक, पानी, बिजली, स्वास्थ्य सुविधाओ मे भी इजाफा होगा।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने जिलाधिकारियों को 13 डिस्ट्रिक 13 डैस्टिनेशन योजना के अन्तर्गत त्वरित कार्यवाही कर प्लान व डीपीआर बनाकर भेजने के निर्देश दिये गये थे। जिस पर जिलाधिकारी श्री बंसल ने मुख्यमंत्री की अभिप्रेरणा व निर्देशों का त्वरित अनुपालन करते हुयेे स्थानीय जनता से विचार- विमर्श कर प्रदेश मे सर्वप्रथम योजना डीपीआर बनाकर शासन मे भेजी। शासन द्वारा जनपद की योजना डीपीआर को स्वीकृति करते हुये प्रदेश मे सर्वप्रथम जनपद नैनीताल को योजना मे स्वीकृति धनराशि 351.99 लाख के सापेक्ष 191 लाख की धनराशि अवमुक्त की।
जिलाधिकारी ने बताया कि योजना के अन्तर्गत मुक्तेश्वर पर्यटन सर्किट मे हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित करने हेतु महादेव मन्दिर के चारोें ओर सौन्दर्यीकरण व रास्ते का सुधारीकरण कार्य, चैली की जाली के रास्ते का सौन्र्दीकरण के साथ ही ई-टाइलेट, व्यू प्वाइंट, सोविनियर शाॅप निर्माण, मुक्तेश्वर पर्यटन आवास गृह परिसर मे हिमालय दर्शन थीम आधारित डिजिटल व्यू प्वाइंट की स्थापना तथा गार्डन का सौन्दर्यीकरण, मुक्तेश्वर चैराहे का सौन्दर्यीकरण, भालूगाड वाटर फाॅल तक 1.2 किमी टैªक रूट पर 4 लोहे के पुल निर्माण ताकि पर्यटकों का वर्षभर वाटरफाॅल तक आवागमन बना रहे, भालू गाड वाटर फाॅल टैªक रूट पर 4 सोविनियर शाॅप निर्माण, भालूगाड जलाशय मे सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षा फैन्सिंग साथ ही सोलर लाईट, शौचालय, चैजिंग रूम निर्माण, राष्ट्रीय राजमार्ग अल्मोडा-हल्द्वानी सडक मार्ग पर स्थित पुरानी जसुली देवी धर्मशाला का जनजाति संग्रहालय के रूप मे जीर्णाेद्वार कार्य किये जायेंगे।
जिलाधिकारी द्वारा कार्यदायी संस्था के रूप मे कुमाऊ मण्डल विकास निगम को नामित किया है। उन्होने कार्यदायी संस्था को योजना मे युद्व स्तर पर कार्य कर समयान्तर्गत कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये है साथ ही योजना का द्वितीय फेज के कार्याे की डीपीआर बनाने के निर्देश भी दिये।जिलाधिकारी श्री बंसल के प्रयासो से मुक्तेश्वर में पर्यटन विभाग द्वारा हाईटैक शौचालय का निर्माण किया जा रहा है जो शीघ्र पूर्ण हो जायेगा।

यह भी पढ़ें -  बंजर भूमि पर लेमन ग्रास जमीन लीज पर

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ें

👉 हमारे Facebook पेज़ को लाइक करें

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page